गणतंत्र दिवस के लिए दिल्ली पुलिस पूरी तरह मुस्तैद, ड्रोन के जरिए करेगी निगरानी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 25, 2020   09:09
गणतंत्र दिवस के लिए दिल्ली पुलिस पूरी तरह मुस्तैद, ड्रोन के जरिए करेगी निगरानी

राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस के पहले 10,000 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के साथ ही दिल्ली पुलिस सुरक्षा के चाक चौबंद उपाय करने के लिए इस बार चेहरा पहचानने वाले सिस्टम और ड्रोन की भी सहायता लेगी। लाल किला, चांदनी चौक और यमुना खादर वाले इलाकों में 150 कैमरों सहित सुरक्षाव्यवस्था के तहत सैकड़ों सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जा रहे हैं।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस के पहले 10,000 सुरक्षा कर्मियों की तैनाती के साथ ही दिल्ली पुलिस सुरक्षा के चाक चौबंद उपाय करने के लिए इस बार चेहरा पहचानने वाले सिस्टम और ड्रोन की भी सहायता लेगी। डीसीपी (नयी दिल्ली जोन) ईश सिंघल ने बताया कि ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो गणतंत्र दिवस परेड पर मुख्य अतिथि होंगे और अतिथियों के लिए सुरक्षा के खास बंदोबस्त किए गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि राजपथ से लाल किला तक परेड मार्ग पर निगरानी रखने के लिए बहुमंजिला इमारतों पर शार्पशूटर और स्नाइपर तैनात रहेंगे। 

इसे भी पढ़ें: गरीब परिवार में पैदा होने के बावजूद विचारों से कभी गरीब नहीं रहे कर्पूरी ठाकुर

लाल किला, चांदनी चौक और यमुना खादर वाले इलाकों में कम से 150 कैमरों सहित सुरक्षा व्यवस्था के तहत सैकड़ों सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘चार स्तरीय सुरक्षा इंतजाम हैं। राष्ट्रीय राजधानी के भीतरी, मध्य, बाहरी और सीमावर्ती क्षेत्र में यह व्यवस्था होगी।’’  उन्होंने बताया कि अर्द्धसैन्य बल की 50 कंपनियों के साथ नयी दिल्ली जिले में 5000 से 6000 कर्मियों की तैनाती होगी। होटलों, टैक्सी और ऑटो वालों को भी सतर्क रहने को कहा गया है। विभिन्न जगहों पर गश्त भी बढ़ा दी गयी है। 

सुरक्षा कर्मियों ने व्यस्त बाजारों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड और अन्य जगहों की पहचान की है, वहां पर अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था की जा रही है। जम्मू से मिली खबर के मुताबिक, जम्मू कश्मीर पुलिस ने शहर में आसमान से नजर रखने के लिए ड्रोनों को लगाया है। खासकर एम ए स्टेडियम के आसपास नजर रखी जा रही है जहां पर गणतंत्र दिवस का समारोह होना है। पुलिस ने बताया कि नव गठित क्राइसिस रेस्पांस टीम (सीआरटी)को भी संवेदनाशील इलाके में तैनात किया गया है। किसी भी संदिग्ध गतिविधि पर नजर रखने के लिए शहर के ज्यादातर इलाके में ड्रोनों से निगरानी की जा रही है।

इसे भी पढ़ें: ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि

मुंबई से मिली जानकारी, के अनुसार मध्य मुंबई में शिवाजी पार्क के आसपास के इलाके को ड्रोनों के लिए उड़ान निषिद्ध क्षेत्र घोषित किया गया है। मैदान के आसपास सुरक्षा के सघन इंतजाम किए गए हैं । शिवाजी पार्क पर गणतंत्र दिवस परेड के दौरान महाराष्ट्र के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहेंगे। अधिकारियों ने बताया कि 22 फरवरी तक इलाके में ड्रोन और रिमोट संचालित किसी भी एयरक्राफ्ट को उड़ाने पर रोक रहेगी। हालांकि, पुलिस कर्मी अपने ड्रोनों के जरिए निगरानी कर सकेंगे।

इसे भी देखें: 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में पहला गणतंत्र दिवस, झूम रहा है हर कश्मीरी





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।