दिल्ली को कोवैक्सीन की 25 हजार से अधिक तथा कोविशील्ड की 83 हजार से अधिक खुराक प्राप्त हुईं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2021   20:57
दिल्ली को कोवैक्सीन की 25 हजार से अधिक तथा कोविशील्ड की 83 हजार से अधिक खुराक प्राप्त हुईं

आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि रविवार को कोवैक्सीन की 25 हजार से अधिक तथा कोविशील्ड की 83 हजार से अधिक खुराक प्राप्त हुईं।दिल्ली में अब हमारे पास 45 साल से अधिक आयु के लोगों, अग्रिम पंक्ति के कर्मियों तथा स्वास्थ्यकर्मियों के लिए कोवैक्सीन का चार दिन का और कोविशील्ड का 20 दिन का भंडार है।’’

नयी दिल्ली। आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि दिल्ली को 45 साल से अधिक आयु समूह के लोगों के लिए रविवार को कोविड रोधी टीकों- कोवैक्सीन और कोविशील्ड की नयी खेप मिली। उन्होंने इसके साथ ही यह भी कहा कि 18 साल से अधिक आयु समूह के लोगों के लिए टीकों की कमी की वजह से दिल्ली में सरकारी केंद्रों में युवाओं का टीकाकरण एक सप्ताह से अधिक समय से बंद है। टीकाकरण से संबंधित बुलेटिन में आतिशी ने कहा कि रविवार को कोवैक्सीन की 25 हजार से अधिक तथा कोविशील्ड की 83 हजार से अधिक खुराक प्राप्त हुईं। उन्होंने कहा, ‘‘इसका मतलब है कि दिल्ली में अब हमारे पास 45 साल से अधिक आयु के लोगों, अग्रिम पंक्ति के कर्मियों तथा स्वास्थ्यकर्मियों के लिए कोवैक्सीन का चार दिन का और कोविशील्ड का 20 दिन का भंडार है।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन लगाने से अभी भी झिझक रहे ग्रामीण, महाराष्ट्र ने तेज किया अभियान

आतिशी ने कहा, ‘‘कोवैक्सीन का इस्तेमाल केवल उन लोगों को दूसरी खुराक देने के लिए किया जाएगा जिनको पहली खुराक लग चुकी है। ऐसे अनेक लोग हैं जिन्हें पहली खुराक एक महीने से पहले लगी थी और वे दूसरी खुराक का इंतजार कर रहे हैं।’’ उन्होंने रेखांकित किया कि 18 से 44 साल आयु समूह के लोगों के लिए सरकारी केंद्रों में एक सप्ताह से अधिक समय से टीकाकरण बंद है। विधायक ने कहा, ‘‘युवाओं को केवल निजी अस्पतालों में टीका लग सकता है। उनके लिए टीकाकरण पर अभी कोई प्रतिबद्धता नहीं है। केंद्र के अनुसार, हमें इस श्रेणी के लिए 10 जून को टीकों की एक खेप मिलेगी। 5.5 लाख टीकों की प्रतिबद्धता है।’’ आतिशी ने कहा कि दिल्ली को युवाओं के लिए कम से कम 50 लाख खुराकों की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, ‘‘अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के साथ युवाओं को अपने घरों से बाहर आना होगा। हम केंद्र से उनके लिए टीके उपलब्ध कराने का आग्रह करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।