• दिल्ली के पास भी होगा खुद का सदन, ठहरने की होगी उत्तम सुविधा, सरकार ने जारी की निविदा, जानें खासियत

दिल्ली सरकार के पर्यटन विभाग ने सदन निर्माण को लेकर सलाहकार नियुक्त करने के लिए निविदा जारी की है। बताया जा रहा है कि राज्य सरकार 'ब्रांड दिल्ली' की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए इसका इस्तेमाल करेगी।

नई दिल्ली। अरुणाचल प्रदेश से लेकर लक्षद्वीप और जम्मू-कश्मीर से लेकर केरल तक हर राज्य और लगभग सभी केंद्र शासित प्रदेशों के राज्य भवन या सदन राजधानी दिल्ली में है। या फिर कम से कम एक गेस्टहाउस है जो संबंधित राज्य के गणमान्य व्यक्तियों और दिल्ली आने वाले अधिकारियों को ठहरने की सुविधा प्रदान करता है। दिल्ली, दिल्ली में होने के कारण, राजधानी में अपना एक भवन बनाने से चूक गया है, लेकिन बहुत लंबे समय के लिए नहीं। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली भाजपा और आप सरकार में कोविड टीकाकरण को लेकर जुबानी जंग 

अंग्रेजी समाचार पत्र 'द टाइम्स ऑफ इंडिया' में छपी रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली, राजधानी दिल्ली में होने के बावजूद अपना एक भवन बनाने से चूक गई। हालांकि जल्द ही दिल्ली के पास भी अपना एक भवन होगा। बता दें कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारका सेक्टर 19 में 'दिल्ली सदन' का निर्माण कराएगी। जहां पर प्रदेश सरकार के गणमाण्य अधिकारियों के लिए रुकने की व्यवस्था होगी।

दिल्ली सरकार के पर्यटन विभाग ने सदन निर्माण को लेकर सलाहकार नियुक्त करने के लिए निविदा जारी की है। बताया जा रहा है कि राज्य सरकार 'ब्रांड दिल्ली' की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए इसका इस्तेमाल करेगी। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली के उद्योग नगर में जूते की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, पांच-छह लोगों के फंसे होने की आशंका 

3,899 वर्गमीटर में बनेगा 'दिल्ली सदन'

दिल्ली सरकार के पर्यटन विभाग के मुताबिक 'दिल्ली सदन' के डिजाइन में पुरानी दिल्ली के हेरिटेज लुक का इस्तेमाल किया जाएगा। द्वारका के सेक्टर-19 में स्थापित होने वाले इस सदन को 3,899.42 वर्गमीटर में बनाया जाएगा। प्राप्त जानकारी के मुताबिक दिल्ली पर्यटन और परिवहन विकास निगम लिमिटेड (डीटीटीडीसी) ने राज्य गेस्टहाउस, विदेशी दूतावासों और चार या उससे ऊपर के स्टार होटलों का अनुभव रखने वाले सलाहकारों द्वारा सदन की व्यापक वास्तुकला और इंजीनियरिंग योजना और डिजाइन के लिए सेवाओं को शामिल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 'दिल्ली सदन' को कम से कम तीन स्टार रेटिंग वाला बनाया जाएगा। भवन में लॉबी, संगोष्ठी हॉल, मीटिंग रूम, समेत अन्य कमरे मौजूद होंगे। इसके अलावा बड़े हॉल, किचन और डाइनिंग एरिया भी बनाया जाएगा। इसमें वाहनों के लिए दिक्कत ना हो इसके लिए नीचे दो तल पर भूमिगत पार्किंग भी बनाई जाएगी।