दिल्ली महिला आयोग ने 20 साल की एक लड़की को देह व्यापार के चंगुल से मुक्त कराया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 30, 2020   17:31
दिल्ली महिला आयोग ने 20 साल की एक लड़की को देह व्यापार के चंगुल से मुक्त कराया

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने आकर्षक वेतन दिलाने का लालच दिखाकर देह व्यापार में कथित रूप से धकेली गयी 20 साल की एक युवती को रोहिणी से मुक्त कराया।

नयी दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने आकर्षक वेतन दिलाने का लालच दिखाकर देह व्यापार में कथित रूप से धकेली गयी 20 साल की एक युवती को रोहिणी से मुक्त कराया। इस महिला ने हेल्पलाइन नंबर 81 पर फोन कर बताया था कि उसके किसी पुराने परिचित ने उसे मोटी तनख्वाह वाले किसी काम का लालच देकर उसे वेश्यावृति में धकेल दिया।

इसे भी पढ़ें: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले ढाई करोड़ के पार

आयोग के अनुसार इस परिचित ने उससे कहा था कि वह उसे ‘आसानी से ’ पैसे कमाने में मदद कर सकता है। डीसीडब्ल्यू ने बताया कि यह महिला राजी हो गयी और उसके साथ 25 अगस्त को रोहिणी सेक्टर छह में एक मकान पर पहुंची। वहां पहुंचने पर उसने उससे वहां रोजाना आधार पर वेश्यावृति करने को कथित रूप से कहा। उसने उससे कहा कि प्रति ग्राहक उसे 1000 रूपये मिलेंगे जब महिला ने विरोध किया तब उसके साथ मारपीट की गयी, उसे डराया धमकाया गया और उसे कमरे में बंद कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें: Unlock 3 के 29वें दिन ठीक होने वालों की संख्या 26 लाख पार, आ गये अनलॉक-4 के दिशानिर्देश

शिकायत मिलने पर डीसीडब्ल्यू की प्रमुख स्वाति मालीवाल और सदस्य किरण नेगी ने बचाव अभियान के लिए एक टीम बनायी। टीम पुलिस के साथ संबंधित जगह पहुंची तब उसने वहां तीन महिलाओं और मुख्य आरोपी के अलावा कुछ मर्दों को पाया। मुख्य आरोपी भाग गया। फिर इस टीम ने संबंधित महिला को मुक्त कराया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।