• मध्य प्रदेश में डेंगू के मामले बढ़कर 2570 हुए, राज्य सरकार शुरू करेगी अभियान

मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में पिछले 24 घंटे में मच्छर जनित संक्रमण के 150 नए मामले सामने आने और इससे एक व्यक्ति की मौत होने के बाद राज्य सरकार बुधवार से डेंगू विरोधी अभियान शुरू करने जा रही है।

भोपाल/जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में पिछले 24 घंटे में मच्छर जनित संक्रमण के 150 नए मामले सामने आने और इससे एक व्यक्ति की मौत होने के बाद राज्य सरकार बुधवार से डेंगू विरोधी अभियान शुरू करने जा रही है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि इस साल एक जनवरी से अब तक प्रदेश में डेंगू के मरीजों की संख्या 2570 हो गई है। सोमवार को जारी एक सरकारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने डेंगू के प्रसार को रोकने के लिए ‘डेंगू से जंग जनता के संग’ अभियान के तहत लोगों से सरकार के प्रयासों में सहयोग करने की अपील की है।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री के दिल के साथ जुड़े मुद्दे को मूर्त रूप देने में लगे सिंधिया, 2030 तक भारत बनेगा दुनिया का ड्रोन हब 

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वे अपने-अपने घरों एवं उसके आसपास कूलर,बर्तन आदि में जमा पानी को सात दिनों के भीतर साफ करें ताकि डेंगू के लार्वा उसमें नहीं पनपें। चौहान ने कहा कि हमने तय किया है कि 15 सितम्बर को सुबह 10 बजे से लेकर साढ़े 10 बजे के बीच आधा घंटा इस अभियान के लिए समय निकालना है। नागरिकों के सहयोग से यह अभियान निश्चित ही सफल होगा। इस बीच कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जबलपुर के रांझी ब्लॉक में मच्छर जनित बीमारी फैलने को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना दिया।

इसे भी पढ़ें: वैश्विक मंच पर हिंदी लगातार अपनी मजबूत पहचान बना रही है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

उन्होंने कहा कि जबलपुर में एक जनवरी से अब तक 410 मामले सामने आए हैं। इनमें एक महिला आरक्षक की रविवार को मौत हो गई। कांग्रेस के रांझी ब्लॉक के अध्यक्ष राजेंद्र मिश्रा ने आरोप लगाया कि इलाके में करीब 2500 से 3000 लोग डेंगू से पीड़ित हैं। वहीं, जबलपुर नगर कांग्रेस की व्यापारी शाखा के उपाध्यक्ष नारायण गुप्ता ने पीटीआई-को बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस के लाठीचार्ज में चार कार्यकर्ता घायल हो गए। रांझी पुलिस थाना प्रभारी विजया परस्ते ने हालांकि इन आरोपों से इनकार किया है।