मसूद को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करवाना आतंक के खिलाफ है भारत की बड़ी कामयाबी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 20 2019 2:20PM
मसूद को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करवाना आतंक के खिलाफ है भारत की बड़ी कामयाबी
Image Source: Google

कोविंद ने कहा कि नई सरकार के शपथ-ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों, शंघाई सहयोगी संगठन (एससीओ) के अध्यक्ष किर्गिज़स्तान और मॉरीशस के राष्ट्राध्यक्षों तथा शासनाध्यक्षों का शामिल होना इसी सोच को दर्शाता है।

नयी दिल्ली। केंद्र सरकार के प्रयासों से भारत के विश्व समुदाय में उचित स्थान की दिशा में तेजी से आगे बढ़ने पर प्रकाश डालते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार को कहा कि आज आतंकवाद समेत विभिन्न मुद्दों पर पूरा विश्व, भारत के साथ खड़ा है और मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करना इसका बहुत बड़ा प्रमाण है। राष्ट्रपति ने संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘नया भारत, विश्व समुदाय में अपना उचित स्थान पाने की दिशा में तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। आज पूरे विश्व में भारत की एक नई पहचान बनी है तथा अन्य देशों के साथ हमारे संबंध और मजबूत हुए हैं।’’ उन्होंने कहा कि प्रसन्नता की बात है कि वर्ष 2022 में भारत जी20 शिखर सम्मेलन की मेज़बानी करेगा।

 
कोविंद ने कहा, ‘‘जलवायु परिवर्तन हो, आर्थिक और साइबर अपराध हों, भ्रष्टाचार और काले धन पर कार्रवाई हो या फिर ऊर्जा सुरक्षा, हर मुद्दे पर भारत के विचारों को विश्व समुदाय समर्थन देता है। आज आतंकवाद के मुद्दे पर पूरा विश्व, भारत के साथ खड़ा है। देश में बड़े आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करना इसका बहुत बड़ा प्रमाण है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरी सरकार की  पड़ोसी देश पहले’’ (नेबरहुड फर्स्ट) की नीति दक्षिण एशिया एवं निकटवर्ती क्षेत्रों को प्राथमिकता देने की हमारी सोच का प्रमाण है। इस पूरे क्षेत्र की प्रगति में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। यही कारण है कि इस क्षेत्र में व्यापार, कनेक्टिविटी और जनता के बीच संपर्क को प्रोत्साहित किया जा रहा है।’’


कोविंद ने कहा कि नई सरकार के शपथ-ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों, शंघाई सहयोगी संगठन (एससीओ) के अध्यक्ष किर्गिज़स्तान और मॉरीशस के राष्ट्राध्यक्षों तथा शासनाध्यक्षों का शामिल होना इसी सोच को दर्शाता है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार,विदेशों में बसे तथा वहां कार्यरत भारतीयों के हितों की रक्षा के प्रति भी सजग है। आज विदेश में अगर कोई भारतीय संकट में फंसता है तो उसे शीघ्र मदद और राहत का भरोसा होता है। पासपोर्ट से लेकर वीज़ा तक की अनेक सेवाओं को आसान और सुलभ बनाया गया है।’’ राष्ट्रपति ने कहा कि भारत के दर्शन,संस्कृति और उपलब्धियों को केंद्र सरकार के प्रयासों से विश्व में एक विशिष्ट पहचान मिली है। इस वर्ष, दुनिया भर में आयोजित हो रहे,महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के कार्यक्रमों से भारत की ‘बौद्धिक नेतृत्व’ को बढ़ावा मिलेगा। इसी प्रकार,गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के कार्यक्रमों से भी, भारत के आध्यात्मिक ज्ञान का प्रकाश पूरे विश्व में फैलेगा।
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video