Deve Gowda ने वीआईएसएल संयंत्र की बंदी रोकने का प्रधानमंत्री मोदी से किया अनुरोध

Deve Gowda
प्रतिरूप फोटो
ANI
देवेगौड़ा ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में विश्वेसरैया आयरन एंड स्टील लिमिटेड (वीआईएसएल) के भद्रावती स्थित संयंत्र को बंद करने का प्रस्ताव वापस लेने के साथ ही इसे फिर से चालू करने के लिए जरूरी कदम उठाने का भी आग्रह किया है।

बेंगलुरु। पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा ने कर्नाटक के भद्रावती में स्थित इस्पात संयंत्र वीआईएसएल को बंद करने का प्रस्ताव वापस लेने का इस्पात मंत्रालय को निर्देश देने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है। देवेगौड़ा ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में विश्वेसरैया आयरन एंड स्टील लिमिटेड (वीआईएसएल) के भद्रावती स्थित संयंत्र को बंद करने का प्रस्ताव वापस लेने के साथ ही इसे फिर से चालू करने के लिए जरूरी कदम उठाने का भी आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि गैर-रणनीतिक क्षेत्रों में केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण करने अन्यथा बंद किए जाने की नीति के तहत स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) प्रबंधन वीआईएसएल को बंद करने की कवायद शुरू कर चुका है।

इसे भी पढ़ें: त्रिपुरा: विधानसभा चुनाव से पहले पुलिस, CAPF ने अगरतला में फ्लैग मार्च किया

उन्होंने कहा कि इस संयंत्र की स्थापना महान इंजीनियर सर एम विश्वेसरैया ने की थी। देवेगौड़ा ने रविवार को एक ट्वीट में इस पत्र का ब्योरा देते हुए कहा, ‘‘कर्नाटक में सार्वजनिक क्षेत्र की इकलौती इस्पात कंपनी वीआईएसएल है। अगर यह संयंत्र बंद हो गया तो इससे 20,000 लोगों की आजीविका पर प्रतिकूल असर पड़ेगा।’’ उन्होंने 15 जनवरी को लिखे इस पत्र में कहा है कि कुछ करोड़ रुपये के निवेश से इस कंपनी को एक लाभदायक उद्यम के रूप में बदला जा सकता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़