NC को लगा बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए देवेंद्र राणा और सुरजीत सिंह, जानिए इनके बारे में सबकुछ

NC को लगा बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए देवेंद्र राणा और सुरजीत सिंह, जानिए इनके बारे में सबकुछ

भाजपा में शामिल होने के बाद देवेंद्र राणा ने कहा कि समय आ गया है कि जम्मू की एक आवाज होनी चाहिए। जम्मू में भी एक राजनीतिक नैरेटिव बनाया जाए... प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य लोगों के तहत जम्मू-कश्मीर में जम्मू के लिए एक समावेशी नैरेटिव बनाने का हमारा प्रयास होगा।

नयी दिल्ली। नेशनल कॉन्फ्रेंस के जम्मू के दो कद्दावर नेताओं ने पार्टी को अलविदा कहते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थाम लिया। आपको बता दें कि देवेंद्र राणा और सुरजीत सिहं सलाथिया ने सोमवार को नयी दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, धर्मेंद्र प्रधान, जितेंद्र सिंह और रवींद्र रैना मौजूद रहे। 

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर के अनंतनाग और बांदीपुरा जिलों में मुठभेड़, दो आतंकवादी ढेर 

भाजपा में शामिल होने के बाद देवेंद्र राणा ने कहा कि समय आ गया है कि जम्मू की एक आवाज होनी चाहिए। जम्मू में भी एक राजनीतिक नैरेटिव बनाया जाए... प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य लोगों के तहत जम्मू-कश्मीर में जम्मू के लिए एक समावेशी नैरेटिव बनाने का हमारा प्रयास होगा।

वहीं सुरजीत सिहं सलाथिया ने कहा कि अपनी तरफ से पूरी कोशिश करेंगे कि इस जमात को मजबूत किया जाए और किस तरीके से हम अपना जम्मू-कश्मीर में मुश्किलात को हल किया जाए। 

कौन हैं देवेंद्र राणा ?

आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के छोटे भाई देवेंद्र राणा पूर्व विधायक हैं और अब अपने भाई की पार्टी भाजपा में शामिल हो चुके हैं। देवेंद्र राणा तत्कालीन मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के राजनीतिक सलाहकार रह चुके हैं। हालांकि बाद में उन्होंने इस पद को छोड़ दिया था फिर साल 2011 से नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रांतीय अध्यक्ष पद पर काबिज थे और उन्हें नेशनल कॉन्फ्रेंस की जम्मू इकाई की रीढ़ माना जाता था। 

इसे भी पढ़ें: एमएम अंसारी की सरकार को नसीहत, बोले- J&K पर स्थापित नियमों के तहत सभी पक्षों से खुले मन से करें बातचीत 

जम्मू क्षेत्र के नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष देवेंद्र राणा ने रविवार को पार्टी छोड़ने के बाद कहा था कि मैं और सुरजीत सिहं सलाथिया ने नेशनल कॉन्फ्रेंस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।