फडणवीस कांग्रेस विधायकों को भाजपा में शामिल करने का कर रहे प्रयास: चव्हाण

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 7 2019 7:38PM
फडणवीस कांग्रेस विधायकों को भाजपा में शामिल करने का कर रहे प्रयास: चव्हाण
Image Source: Google

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि कांग्रेस से कोई व्यक्ति पार्टी में शामिल होगा। फडणवीस उनमें से कई को फोन कर रहे हैं और उनसे भाजपा में शामिल होने के लिए कह रहे हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर आरोप लगाया कि वह कांग्रेस विधायकों को व्यक्तिगत रूप से फोन कर रहे हैं और उनसे भाजपा में शामिल होने के लिए कह रहे हैं। राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए दो दिवसीय जिलावार समीक्षा बैठक शुरू होने के बाद चव्हाण ने संवाददाताओं से कहा कि उन्हें नहीं लगता कि उनकी पार्टी से भाजपा में कोई भी शामिल होगा। चव्हाण ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि कांग्रेस से कोई व्यक्ति पार्टी में शामिल होगा। फडणवीस उनमें से कई को फोन कर रहे हैं और उनसे भाजपा में शामिल होने के लिए कह रहे हैं। मुख्यमंत्री कांग्रेस को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। वह कई विधायकों को फोन कर रहे हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि कोई जवाब देगा।’

इसे भी पढ़ें: महात्मा गांधी को लेकर आईएएस अधिकारी के ट्वीट पर विवाद, कांग्रेस ने की निलंबित करने की मांग

उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन उसे ज्यादा खुश होने की जरूरत नहीं है। सच्चाई यह है कि लोग राज्य सरकार से बहुत नाखुश हैं और विधानसभा चुनाव के नतीजे लोकसभा चुनाव के परिणाम से काफी अलग हो सकते हैं। उन्होंने जिलावार समीक्षा के बारे में कहा कि दो दिवसीय बैठक इस साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन पर चर्चा करने के लिए बुलाई गई। चव्हाण ने कहा, ‘काफी संख्या में कार्यकर्ता वंचित बहुजन अघाडी के साथ गठबंधन करना चाहते हैं जिसने राज्य में 48 संसदीय सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसके चलते करीब 10 सीटों पर कांग्रेस- राकांपा गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा।’

इसे भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव में हार सामूहिक जिम्मेदारी, अकेले राहुल गांधी की नहीं: अशोक चव्हाण



मतदाताओं से संपर्क साधने में आरएसएस से सीख लेने संबंधी राकांपा प्रमुख शरद पावार के बयान के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा से वैचारिक रूप से आरएसएस के खिलाफ रही है। पार्टी पदाधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार की बैठक में लोकसभा चुनाव के नतीजे से लेकर राज्य में सूखे की स्थिति जैसे विषयों पर चर्चा हुई। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video