इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर डीजीजीआई टीम की छापेमारी जारी, अब तक 177 करोड़ और कई दस्तावेज भी मिले

up raid
पीयूष जैन की तलाश में टीमें छापा मार रही हैं, लेकिन कानपुर, कन्नौज और मुंबई में उनकी लोकेशन नहीं मिली। कानपुर के किदवई नगर के आनंदी पुरी स्थित जैन के निवास से दोनों बेटों प्रत्यूष और प्रियांश जैन को हिरासत में ले लिया गया है।

कन्नौज में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर छापेमारी जारी है। इसी कड़ी में उनके पुश्तैनी घर के बेसमेंट की भी जांच शुरू कर दी गई है। आपको बता दें कि बेसमेंट में इत्र और केमिकल का स्टॉक मिला है, इसके अलावा वहां से कई दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं अब तक की जांच में 177 करोड़ों रुपए की नकदी जब्त की जा चुकी है। सूत्रों के मुताबिक अभी भी गिनती जारी है। बताया जा रहा है कि 5 सदस्य विजिलेंस टीम कन्नौज पहुंची थी। 18 सदस्यों की टीम पीयूष जैन के तीन घरों की जांच कर रही है। पीयूष जैन के घर में रखे केमिकल स्टॉक और दस्तावेजों का मिलान किया जा रहा है।

 पीयूष जैन की तलाश में टीमें छापा मार रही हैं, लेकिन कानपुर, कन्नौज और मुंबई में उनकी लोकेशन नहीं मिली। कानपुर के किदवई नगर के आनंदी पुरी स्थित जैन के निवास से दोनों बेटों प्रत्यूष और प्रियांश जैन को हिरासत में ले लिया गया है। डीजीजीआई अफसर दोनों बेटों को कन्नौज स्थित घर, और फैक्टरी में लेकर गए जहां नकदी, संपत्तियों और कागजात की छानबीन की जा रही है। पुश्तैनी घर में रखे नोट गिनने की मशीन को घर के नए हिस्से में रख लिया गया है। टीम लगातार जांच कर रही है। शुक्रवार शाम 4 बजे से ही पीयूष जैन के पुश्तैनी घर पर तलाश जारी है।

 आपको बता दें कि गुरुवार को, जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय यानी डीजीजीआई और आयकर विभाग की टीम ने कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर वाले घर पर छापा मारा था इस दौरान अलमारियों में इतने पैसे मिले थे कि नोट गिनने की मशीन  बुलाई गईं। इस दौरान कुल 8 मशीनों के जरिये पैसों को गिना गया था। जानकारी के मुताबिक छापों के दौरान नगदी व गोल्ड के अलावा बड़ी संख्या में प्रॉपर्टी के कागजात भी मिल रहे हैं। मकान की दीवारों व फर्श के नीचे सोना मिलने की आशंका के चलते एक्स रे मशीन की भी मदद ली जाएगी। पीयूष जैन ने टीम को 50 बीघा एग्रीकल्चर भूमि होने की बात बताई है। जो उनकी आमदनी का सोर्स था।

अन्य न्यूज़