क्या नरसिम्हा राव ने गांधी परिवार को दरकिनार करने की कोशिश की थी?

did-narasimha-rao-try-to-circumvent-the-gandhi-family
अविभाजित आंध्र प्रदेश में कांग्रेस के मंत्री रहे रेड्डी ने राव के प्रधानमंत्री रहते हुए दिसंबर, 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस को लेकर उन्हें जिम्मेदार ठहराने का भी प्रयास किया और कहा कि इसी कारण मुस्लिम समुदाय के लोग पार्टी से दूर हो गये।

हैदराबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस पर अपने ही नेताओं और पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिम्हा राव को नजरअंदाज करने का आरोप लगाये जाने के एक बाद पार्टी सचिव जी चिन्ना रेड्डी ने बुधवार को आरोप लगाया कि दिवंगत नेता ने अपने कार्यकाल के दौरान नेहरू-गांधी परिवार को दरकिनार करने की कोशिश की थी।

अविभाजित आंध्र प्रदेश में कांग्रेस के मंत्री रहे रेड्डी ने राव के प्रधानमंत्री रहते हुए दिसंबर, 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस को लेकर उन्हें जिम्मेदार ठहराने का भी प्रयास किया और कहा कि इसी कारण मुस्लिम समुदाय के लोग पार्टी से दूर हो गये।

इसे भी पढ़ें: धार्मिक स्वतंत्रता के पक्ष में मजबूती से बोलना चाहिए: पोम्पिओ

उन्होंने यहां कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से कहा, ‘‘पी वी नरसिम्हा राव जी को जिन गांधी परिवार, सोनिया गांधी जी और कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री बनाने में मदद की उन्होंने उन्हें ही राजनीतिक रूप से दबाने की कोशिश की थी। उन्होंने गांधी परिवार को दरकिनार करने का प्रयास किया क्योंकि उन्हें डर था कि शायद वह दोबारा प्रधानमंत्री नहीं बन सकें।’

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़