भारत और अमेरिका के बीच भविष्य के अवसरों की राह खोलेगी डिजिटल अर्थव्यवस्था:USIBC

Digital economy
ani
अमेरिका-भारत व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) ने डिजिटल अर्थव्यवस्था को हर तरह से फायदेमंद बताते हुए कहा कि अमेरिका और भारत में इस प्रमुख क्षेत्र की लगातार वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए अवसंरचना, विनियमन और कानूनी ढांचे को मजबूत करना जरूरी है।

वाशिंगटन। अमेरिका-भारत व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) ने डिजिटल अर्थव्यवस्था को हर तरह से फायदेमंद बताते हुए कहा कि अमेरिका और भारत में इस प्रमुख क्षेत्र की लगातार वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए अवसंरचना, विनियमन और कानूनी ढांचे को मजबूत करना जरूरी है। यूएसआईबीसी के अध्यक्ष अतुल केशप ने इंडिया फाउंडेशन द्वारा ‘कॉमर्स एंड इंडस्ट्री 2.0’ पैनल के तहत रविवार को बेंगलुरु में आयोजित 7वें इंडिया आइडियाज कॉन्क्लेव में भारत की प्रभावशाली वृद्धि, सरकारी नेतृत्व में डिजिटलीकरण की सफलता और अर्थव्यवस्था की स्थिति पर चर्चा की।

इसे भी पढ़ें: Coronavirus | भारत में कोरोना वायरस के 2,022 नये मामले, 46 मरीजों ने गवाई जान

उन्होंने कहा, ‘‘डिजिटल अर्थव्यवस्था व्यापार से हमारे दोनों देशों के बीच कई लाभ मिलते हैं... मेरी आपसे अपील है कि हम अवसंरचना, विनियमन और कानूनी ढांचे को मजबूत करें, ताकि लगातार वृद्धि संभव हो सके।’’ उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका में डिजिटल अर्थव्यवस्था की लगातार वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए ऐसा करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि भारत में एक व्यापक क्रांति हो रही है, और इसका भारत, अमेरिका और पूरी दुनिया पर व्यापक रूप से सकारात्मक असर होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़