• दिग्विजय सिंह ने उठाया गुमटी वालों का मुद्दा, बोले- दादा लोग घर बैठकर इनसे कर रहे वसूली

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होता है वो पोर्टल खुल नहीं रहा है। आयुक्त से हमने खोलने को कहा तो उन्होंने कहा तकनीकी समस्या है। इसका मतलब है कि नया रजिस्ट्रेशन बंद है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक बार फिर से अवैध गुमटियों का मामला सुनाई दे रहा है। इस बार पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कई सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार ने स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट को साल 2012 में लोकसभा से पास कराया था फिर भी भोपाल में दादा लोग गुमटी से वसूली कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश ने तय किए गए लक्ष्य को किया पार, CM ने कहा धन्यवाद, एक दिन में रिकॉर्ड 16 लाख लोगों को लगी वैक्सीन 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट UPA सरकार ने 2012 में लोकसभा से पास कराया था। जिसके नियमों का नोटिफिकेशन 2017 में हुआ। लेकिन उसका सही तरीके से पालन नहीं हो पाया है। भोपाल में दादा लोग घर बैठकर गुमटी में वसूली कर रहे हैं। गुमटी पर बैठने वाले को किराया देना पड़ रहा है।

तकनीकी समस्या से जूझ रहा पोर्टल

उन्होंने कहा कि जिस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होता है वो पोर्टल खुल नहीं रहा है। आयुक्त से हमने खोलने को कहा तो उन्होंने कहा तकनीकी समस्या है। इसका मतलब है कि नया रजिस्ट्रेशन बंद है। हम चाहेंगे नया रजिस्ट्रेशन तत्काल हो। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मामले को लेकर दिग्विजय सिंह ने कमिश्नर से मुलाकात की और नगर निगम के खिलाफ शिकायत की। 

इसे भी पढ़ें: राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया की सुरक्षा में चूक के आरोप में 14 पुलिसकर्मी निलंबित 

उन्होंने कहा कि नगर निगम गुमती माफियाओं का संरक्षण करती है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से बहुत से लोग बेरोजगार हो गए हैं। लेकिन घर बैठकर दादा लोग गुमती वालों से पैसा वसूलते हैं।