दिग्विजय सिंह ने रामेश्वर शर्मा पर कसा तंज, कहा -मैं एक कांग्रेस कार्यकर्ता हूँ , मेरे घुटने तोड़ दो

दिग्विजय सिंह ने रामेश्वर शर्मा पर कसा तंज, कहा -मैं एक कांग्रेस कार्यकर्ता हूँ , मेरे घुटने तोड़ दो

भाजपा विधायक शर्मा का वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। जहां उन्हें लोगों से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि अगर वे अपने क्षेत्रों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को देखें तो उनके घुटने तोड़ दें।

भोपाल। राजधानी भोपाल के भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के घुटने तोड़ने के आह्वान पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने कहा है कि वह 24 नवंबर को शर्मा के आवास का दौरा करेंगे।

इसे भी पढ़ें:3 कृषि कानूनों की वापसी पर कांग्रेस मना रहा है किसान विजय दिवस 

दरअसल भाजपा विधायक शर्मा का वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। जहां उन्हें लोगों से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि अगर वे अपने क्षेत्रों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को देखें तो उनके घुटने तोड़ दें। फिर भी शर्मा ने बाद में कहा कि उनके बयान का गलत अर्थ निकाला गया। उन्होंने यह भी कहा कि सोशल मीडिया पर चल रहे वीडियो में उनका चेहरा नहीं दिख रहा था।

जिसके बाद अब दिग्विजय सिंह ने कहा है कि वह 24 नवंबर को शर्मा के घर चलेंगे और एक घंटे तक रामधुन गाएंगे। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि “मैं एक कांग्रेस कार्यकर्ता हूं। अगर किसी के पास ताकत है तो घुटने तोड़ दो। मैं गांधीवादी हूं। हिंसा का जवाब अहिंसा से देंगे। 24 नवंबर को रामेश्वर शर्मा के घर जाएंगे। एक घंटे रामधुन गाएंगे, शर्मा को ज्ञान देने की प्रार्थना करेंगे।

इसे भी पढ़ें:हनुवंतिया जल महोत्सव का होगा आगाज, CM शिवराज करेंगे शुभारंभ 

इससे पहले कांग्रेस नेताओं ने भाजपा विधायक द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा पर कड़ी आपत्ति जताई थी। मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि पूर्व प्रोटेम स्पीकर लोगों को भड़का रहे हैं। उनकी भाषा देखो…पहले सिंधी समुदाय के लिए फिर राजपूतों के लिए और अब कांग्रेस के लिए…सत्ता के नशे में। उसका इलाज करना चाहिए।

रामेश्वर शर्मा ने पहले सिंधी समुदाय और राजपूत समुदाय के खिलाफ विवादित बयान दिया था और इन समुदायों के बीच असंतोष के बाद वापस ले लिया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।