उत्तराखंड को लेकर कांग्रेस में हुआ मंथन, हरीश ने स्क्रीनिंग कमेटी के समक्ष रखी यह बात, शनिवार को आ सकते हैं उम्मीदवारों के नाम !

उत्तराखंड को लेकर कांग्रेस में हुआ मंथन, हरीश ने स्क्रीनिंग कमेटी के समक्ष रखी यह बात, शनिवार को आ सकते हैं उम्मीदवारों के नाम !
प्रतिरूप फोटो

क्या कांग्रेस के कद्दावर नेता हरीश रावत चुनाव लड़ेंगे ? इस विषय पर उन्होंने खुद प्रतिक्रिया दी है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि मैं चुनाव लड़ूंगा या नहीं ये पार्टी तय करेगी, मैंने अपनी बात पार्टी के सामने रख दी है। बैठक में सारी बारीकियों को देखते हुए 70 सीटों पर विचार किया गया।

नयी दिल्ली। विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस एक्शन मोड में नजर आ रही है। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शुक्रवार को दिल्ली में कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक हुई। इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत समेत प्रदेश के कई बड़े नेता मौजूद रहे। बैठक के बाद पूर्व मुख्यमंत्री ने बताया कि वर्तमान स्थिति में कौन सा उम्मीदवार कहां फिट होगा इन तमाम मसलों पर चर्चा हुई है। सभी नामों पर फाइनल मुहर लग चुकी है। 

इसे भी पढ़ें: सिब्बल ने उप्र-उत्तराखंड प्रशासन को लिखा पत्र, ‘धर्म संसद’ से पहले निवारक कदम उठाने का किया आग्रह

क्या चुनाव लड़ेंगे हरीश रावत ?

इसी बीच सभी के जहन में सिर्फ एक ही सवाल है कि क्या कांग्रेस के कद्दावर नेता हरीश रावत चुनाव लड़ेंगे ? इस विषय पर उन्होंने खुद प्रतिक्रिया दी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि मैं चुनाव लड़ूंगा या नहीं ये पार्टी तय करेगी, मैंने अपनी बात पार्टी के सामने रख दी है। बैठक में सारी बारीकियों को देखते हुए 70 सीटों पर विचार किया गया।

उन्होंने बताया कि वर्तमान स्थिति में कौन सा उम्मीदवार कहां फिट होगा इन तमाम मसलों पर चर्चा हुई है। सभी नामों पर फाइनल मुहर लग चुकी है। कल अगर केंद्रीय चुनाव समिति हमारे नामों को स्वीकृति दे देगी तो उम्मीदवारों की लिस्ट आ जाएगी।

इसे भी पढ़ें: हरीश रावत ने उम्मीदवारों की सूची को लेकर साधा भाजपा पर निशाना, बोले- 7 दिनों में सामने आएगी पहली लिस्ट

उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों के लिए 14 फरवरी को मतदान होंगे और 10 मार्च को चुनाव के नतीजे सामने आएंगे। आपको बता दें कि कांग्रेस ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि हरीश रावत के नेतृत्व में उत्तराखंड का चुनाव लड़ा जाना है। हालांकि पार्टी के पास चुनाव प्रचार करने वाले नेताओं की कमी है। ऐसे में राहुल गांधी पांचों राज्यों के विधानसभा चुनाव का मोर्चा संभालेंगे। जबकि प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश और हरीश रावत महज उत्तराखंड में दिखाई देंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।