बिहार की सीटों पर महागठबंधन का फॉर्मूला तय, वामदलों पर सहमति नहीं

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 14 2019 11:15AM
बिहार की सीटों पर महागठबंधन का फॉर्मूला तय, वामदलों पर सहमति नहीं
Image Source: Google

राजद और कांग्रेस नेताओं की दिल्ली में बुधवार देर रात तक लंबी बैठकें हुईं जिनमें सीटों के बंटवारे को लेकर हफ़्तों से चले आ रहे गतिरोध को दूर करने पर चर्चा हुई।

नयी दिल्ली। बिहार में महागठबंधन की पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे का फार्मूला बुधवार को  लगभग तय  हो गया जिसके तहत कांग्रेस 11 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। हालांकि वाम दलों को साथ लेने पर सहमति नहीं बन पाई है। सूत्रों के मुताबिक, सीटों के तालमेल के बारे में अगले कुछ दिनों के भीतर ही घोषणा की जा सकती है। राजद और कांग्रेस नेताओं की दिल्ली में बुधवार देर रात तक लंबी बैठकें हुईं जिनमें सीटों के बंटवारे को लेकर हफ़्तों से चले आ रहे गतिरोध को दूर करने पर चर्चा हुई। 

इसे भी पढ़ें: पटना साहिब से ही चुनावी रण में उतरेंगे बिहारी बाबू, RJD देगी टिकट

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने  पीटीआई-भाषा  को बताया कि  बैठक में सीटों काबंटवारा लगभय तय हो गया है। राजद की ओर से कांग्रेस के लिए 11 सीटों पर रजामंदी दी गयी है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन में शामिल सभी पार्टियों को पूरा सम्मान मिलेगा औरपूरी संभावना है कि 17 मार्च को सीटों के बंटवारे की घोषणा की जाए। सूत्रों के मुताबिक, राजद नेता तेजस्वी यादव महागठबंधन में रालोसपा, हम, लोकतांत्रिक जनता दल और मुकेश साहनी की विकासशील इंसान पार्टी को साथ रखना चाहते हैं। 

इसे भी पढ़ें: बिहार में टल सकता है पहले चरण का चुनाव !

वह राज्य में वाम दलों का सीमित आधार होने का तर्क दे कर उन्हें सीटें देने के पक्ष में नहीं हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस चाहती है कि एक या दो सीटें देकर वाम दलों को भी महागठबंधन में साथ रखा जाए। गौरतलब है कि बिहार में 40 लोकसभा सीटें हैं जिनमें से भाजपा ने पिछले लोकसभा चुनाव में 22 सीटें जीती थीं। लोजपा को 6 सीटें मिली थीं, वहीं राजद को मात्र 4 सीटें मिली थीं। जदयू ने 2 सीटें और कांग्रेस ने 2 सीटें जीती थीं।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video