मुख्यमंत्री पर बरसे धरमलाल कौशिक, बोले- बस्तर में कागजों पर चल रहा है डीएमएफ

Dharamlal Kaushik
प्रतिरूप फोटो
Twitter Image
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि जिस तरह से सुकमा जिले में मृतकों को ही सरकारी योजना का लाभ पहुंचाने का मामला सामने आया है। ऐसे जिन लोगों को योजना का लाभ मिला था उनकी मृत्यु चार साल पहले ही हो चुकी है। पूरे इलाके में बीज विकास निगम व उद्यान विभाग मिलकर भारी भ्रष्टाचार करने में जुटा है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि बस्तर में डीएमएफ को लेकर जो बंदरबांट हो रही है वह किसी से छिपा नहीं है। जिस तरह से अब मृतकों को सरकारी योजना का लाभ मिल रहा है।इससे स्पष्ट होता है कि इस तरह की भ्रष्टाचार लगातार बस्तर के सभी जिलों में हो रहे हैं और केवल मात्र मुख्यमंत्री दिखावे के नाम पर ही बस्तर के दौरे पर निकले है लेकिन जमीनी हालत कुछ और ही है। उन्होंने कहा कि बस्तर संभाग के सभी जिला प्रशासन कार्यालय एक तरह से कांग्रेस का क्षेत्रीय कार्यालय हो गया है और कांग्रेसियों के भ्रष्टाचार का बड़ा केन्द्र बनता जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में भाजपा का जेल भरो आंदोलन, पूर्व मंत्री बृजमोहन समेत कई नेता हुए गिरफ्तार 

उन्होंने कहा कि जिस तरह से सुकमा जिले में मृतकों को ही सरकारी योजना का लाभ पहुंचाने का मामला सामने आया है। ऐसे जिन लोगों को योजना का लाभ मिला था उनकी मृत्यु चार साल पहले ही हो चुकी है। पूरे इलाके में बीज विकास निगम व उद्यान विभाग मिलकर भारी भ्रष्टाचार करने में जुटा है जिन्हें जिला प्रशासन सहित कांग्रेस के आला नेताओं को संरक्षण प्राप्त है। 

इसे भी पढ़ें: भूपेश बघेल ने किया श्री राम का गुणगान, रमन सिंह बोले- सबूत मांगने वाले आज राम भक्त होने का नाटक कर रहे 

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि पूरे संभाग में डीएमएफ के नाम पर कांग्रेस के नेताओं को योजनाओं की लाभ पहुंचाई जा रही है और आम हितग्राही इनसे दूर है। जब अब मुख्यमंत्री बस्तर संभाग के प्रवास पर है तो भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कुछ कार्यवाही करेंगे या केवल मात्र दिखावे के लिए छोटे कर्मचारियों पर कार्यवाही कर मामले की इतिश्री कर देंगे। इस तरह से जब तक भ्रष्ट बड़े अधिकारियों पर कार्यवाही नहीं होगी तब तक भ्रष्टचार पर अंकुश नहीं लगाया जा सकता है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने पूरे मामले में दोषियों पर कार्यवाही करते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़