DRDO की टीम ने अस्थाई कोविड अस्पताल के निर्माण के लिए पटना-मुज़फ्फरपुर का किया दौरा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 27, 2020   09:53
DRDO की टीम ने अस्थाई कोविड अस्पताल के निर्माण के लिए पटना-मुज़फ्फरपुर का किया दौरा

डीआरडीओ के अधिकारियों की एक टीम ने रविवार को पटना में 500 बिस्तरों का अस्पताल खोलने के लिए जिलाधिकारी कुमार रवि से संपर्क किया। जिलाधिकारी के निर्देश पर डीआरडीओ के अधिकारियों की टीम ने उपयुक्त जमीन के अवलोकन एवं चयन के लिए वेटनरी कॉलेज के आसपास की जमीन तथा बिहटा में कई स्थलों का अवलोकन कराया गया।

पटना। केंद्रीय सरकार की पहल पर रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की टीम ने 500 बिस्तरों वाले अस्थाई कोविड अस्पताल के निर्माण के लिए बिहार की राजधानी पटना और मुज़फ्फरपुर का दौरा कर विभिन्न स्थलों का निरीक्षण किया। डीआरडीओ के अधिकारियों की एक टीम ने रविवार को पटना में 500 बिस्तरों का अस्पताल खोलने के लिए जिलाधिकारी कुमार रवि से संपर्क किया। जिलाधिकारी के निर्देश पर डीआरडीओ के अधिकारियों की टीम ने उपयुक्त जमीन के अवलोकन एवं चयन के लिए वेटनरी कॉलेज के आसपास की जमीन तथा बिहटा में कई स्थलों का अवलोकन कराया गया। जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि उपयुक्त स्थल का चयन होने के उपरांत डीआरडीओ द्वारा अस्पताल निर्माण की दिशा में ठोस कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: बिहार में कोविड-19 से पिछले 24 घंटे में 17 की मौत, 2605 नए मामले सामने आए

मुज़फ्फरपुर के ज़िलाधिकारी चन्द्रशेखर सिंह ने बताया कि दिल्ली से आयी डीआरडीओ की दो सदस्यीय टीम ने शनिवार को मुज़फ्फरपुर शहर स्थित चक्कर मैदान तथा मुजफ्फरपुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एवं शहर के बाहरी इलाके में स्थित पताही हवाई अड्डा और झपहा में सीआरपीएफ कैंप का मुआयना किया था। डीआरडी की टीम के इस दौरे के दौरान मिलिट्री स्टेशन हेडक्वार्टर के कमांडिंग ऑफिसर (सीओ) लेफ्टिनेंट कर्नल पी एस नाइक और जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। जिलाधिकारी ने कहा कि स्थल का चयन हो जाने के 15 दिनों के भीतर इस अस्पताल को चालू कर दिया जाएगा । उन्होंने कहा कि 150 वेंटिलेटर से सुसज्जित 500 बिस्तरों वाला यह अस्थायी अस्पताल कोविड रोगियों के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं से लैस होगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि टीम पताही हवाई अड्डे पर यह अस्थायी कोविड अस्पताल खोलने के लिए अधिक इच्छुक थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।