भारत की ताकत देख थरथराएगा दुश्मन, पानी के भीतर से भी दागी जा सकेगी ब्रह्मोस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 30, 2019   15:11
भारत की ताकत देख थरथराएगा दुश्मन, पानी के भीतर से भी दागी जा सकेगी ब्रह्मोस

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक सूत्र ने बताया कि परीक्षण सभी उड़ान मापदंडों पर खरा उतरा।

बालासोर। भारत ने ओडिशा के बालासोर जिले के चांदीपुर तट पर सोमवार को ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल के विशेष संस्करण का सफलतापूर्वक परीक्षण किया जिसे जमीन के साथ ही समुद्र में स्थित मंच से दागा जा सकता है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक सूत्र ने बताया कि परीक्षण सभी उड़ान मापदंडों पर खरा उतरा। उन्होंने बताया कि मिसाइल 290 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली मिसाइल भूमि के साथ-साथ समुद्र में स्थित मंच से भी दागी जा सकती है।

इसे भी पढ़ें: हवा से हवा में मार करने में सक्षम है मिसाइल अस्त्र, किए गए 5 सफल परीक्षण

सूत्रों ने बताया कि 11 मार्च 2017 को मिसाइल के पहले विस्तारित रूप का सफल परीक्षण किया गया था, जिसकी मारक क्षमता 450 किलोमीटर थी। ब्रह्मोस डीआरडीओ और रूस के एनपीओएम का एक साझा उपक्रम है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।