ई-रिक्शा चालक की हत्याः नायडू ने कमिश्नर से की बात

वेंकैया नायडू ने दिल्ली पुलिस के प्रमुख से कहा कि दो व्यक्तियों को सार्वजनिक स्थान पर पेशाब करने से रोकने पर ई-रिक्शा चालक की हत्या में शामिल आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाये।

केन्द्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने आज दिल्ली पुलिस के प्रमुख से कहा कि दो व्यक्तियों को सार्वजनिक स्थान पर पेशाब करने से रोकने पर ई-रिक्शा चालक की हत्या में शामिल आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाये। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री ने ट्वीट किया ‘‘दिल्ली में एक ई-रिक्शा चालक ने दो व्यक्तियों को सार्वजनिक स्थान पर पेशाब करने से रोकने का प्रयास किया। उसकी हत्या हो जाने पर दुख हुआ। वह ‘‘स्वच्छ भारत’’ कार्यक्रम को बढ़ावा दे रहा था।’’

नायडू ने बताया कि उन्होंने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से बात की है और उनसे दोषियों के खिलाफ ‘‘हरसंभव कठोर कदम’’ उठाने को कहा है। बीते शनिवार को जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के बाहर 32 वर्षीय ई-रिक्शा चालक रवीन्द्र ने कुछ लोगों को सार्वजनिक स्थान पर पेशाब करने से मना किया, जिसके बाद कई लोगों ने कथित तौर पर पीट पीटकर उसकी हत्या कर दी।

पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि मृतक रवींद्र ने दो लोगों को मेट्रो स्टेशन के बाहर पेशाब करते हुए देखा और इस पर आपत्ति जताई। तब वे वहां से रविंद्र को बाद में सबक सिखाने की धमकी देकर चले गये। दोनों रात करीब आठ बजे दस और लोगों के साथ वापस आए और उसे बुरी तरह से पीटा। एक दूसरे ई-रिक्शा चालक ने बीचबचाव करने की कोशिश की लेकिन आरोपियों ने उसे भी पीटा। रवींद्र को अस्पताल ले जाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। पुलिस सूत्रों ने कहा कि दोनों व्यक्तियों की तस्वीरें वहां लगे सीसीटीवी में कैद हैं। ऐसा संदेह है कि आरोपी एक प्रतियोगी परीक्षा में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली आए थे और हरियाणा के रहने वाले हैं। रवींद्र मेट्रो स्टेशन के पास एक झुग्गी बस्ती में रहता था। उसकी पिछले साल शादी हुई थी और उसकी पत्नी सात महीने की गर्भवती है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़