EC ने जिलाधिकारियों से कहा, चुनाव कराने के दिशा निर्देशों का हो सख्ती से पालन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 25, 2020   07:20
EC ने जिलाधिकारियों से कहा, चुनाव कराने के दिशा निर्देशों का हो सख्ती से पालन

उपमुख्य निर्वाचन अधिकारी बैजनाथ सिंह ने बताया कि जिलाधिकारियों को कोरोना महामारी के दौरान चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग के दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए जिला और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के स्तर पर कार्य योजना तैयार करने के लिए कहा गया है।

पटना। चुनाव आयोग ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से एक बैठक कर बिहार के सभी जिलाधिकारियों को कोरोना वायरस महामारी के दौरान चुनाव कराने के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने के लिये कहा। बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवास की अध्यक्षता में वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित इस बैठक के दौरान 21 अगस्त को चुनाव आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों के बारे में जिला निर्वाचन अधिकारी-सह-जिला मजिस्ट्रेटों को यह निर्देश दिए। 

इसे भी पढ़ें: निर्वाचन आयोग के सूत्र ने कहा, समय पर होगा बिहार विधानसभा का चुनाव

उपमुख्य निर्वाचन अधिकारी बैजनाथ सिंह ने बताया कि जिलाधिकारियों को कोरोना महामारी के दौरान चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग के दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए जिला और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के स्तर पर कार्य योजना तैयार करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि मतगणना केंद्र और स्ट्रांग रूम विशाल होने चाहिए ताकि सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंडों का पालन करते हुए मतगणना प्रक्रिया को पूरा किया जा सके। 

इसे भी पढ़ें: सिंधिया की हुंकार, आने वाला उपचुनाव तय करेगा मध्य प्रदेश का भविष्य

सिंह ने कहा कि यह भी सुनिश्चित करने के लिए भी कहा गया है कि सभी पात्र प्रवासी मजदूरों के नाम मतदाता सूची में दर्ज किए जाएं। इस बैठक में बिहार के सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों के चुनाव अधिकारी, सभी उपचुनाव अधिकारी और चुनाव विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।