तीन जून से शुरू होगी ईवीएम चुनौती: निर्वाचन आयोग

ईवीएम में गड़बड़ी संभव है, इसे साबित करने के लिए चुनौती तीन जून से शुरू होगी। भारत निर्वाचन आयोग ने मशीन में किसी प्रकार की छेड़छाड़ की संभावना को खारिज करते हुए यह घोषणा की।

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी संभव है, इसे साबित करने के लिए चुनौती तीन जून से शुरू होगी। भारत निर्वाचन आयोग ने मशीन में किसी प्रकार की छेड़छाड़ की संभावना को खारिज करते हुए आज यह घोषणा की। निर्वाचन आयोग ने एक सप्ताह पहले ही राजनीतिक दलों को चुनौती दी थी कि वे साबित करें कि हालिया विधानसभा चुनावों में प्रयुक्त ईवीएम में धांधली संभव है।

संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने कहा, ‘‘ईवीएम चुनौती तीन जून से शुरू होगी।’’ उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने ईवीएम के भरोसे पर सवाल उठाया है उन्होंने अभी तक अपने दावों के समर्थन में पुख्ता साक्ष्य नहीं दिये हैं। जैदी ने कहा, ईवीएम के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना संभव नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे ईवीएम तकनीकी रूप से सुदृढ़ हैं और उनमें धांधली संभव नहीं।’’

जैदी ने आम आदमी पार्टी के दावों को खारिज किया कि ईवीएम में धांधली संभव है। उन्होंने कहा कि मशीन में कोई छेड़छाड़ संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि चुनावी प्रक्रिया को बेहतर बनाना सभी पक्षों की जिम्मेदारी है और निर्वाचन आयोग इस संबंध में सभी जरूरी कदम उठा रहा है। कई प्रमुख राजनीतिक दलों का दावा है कि ईवीएम से लोगों का विश्वास उठ गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़