ईडी ने TMC सांसद केडी सिंह के घर से 32 लाख रुपये नकद, 10 हजार अमेरिकी डॉलर किए जब्त

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 20, 2019   17:36
ईडी ने TMC सांसद केडी सिंह के घर से 32 लाख रुपये नकद, 10 हजार अमेरिकी डॉलर किए जब्त

ईडी ने कहा कि उसने सांसद के चंडीगढ़ स्थित आवास तथा उनकी कंपनियों से जुड़े दो निदेशकों के घर की भी तलाशी ली। ईडी मनी लौंड्रिंग के दो मामलों में सिंह, उनसे जुड़ी कंपनियों तथा उनके सहयोगियों के खिलाफ जांच कर रही है। पहला मामला कोलकाता पुलिस की प्राथमिकी पर तथा दूसरा मामला बाजार नियामक सेबी के आरोपपत्र पर आधारित है।

नयी दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सांसद के.डी.सिंह के यहां स्थित आवास तथा कुछ अन्य स्थानों पर छापेमारी कर 32 लाख रुपये नकद तथा 10 हजार अमेरिकी डॉलर जब्त किये। ईडी ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। ईडी ने कहा कि सांसद तथा कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मनी लौंड्रिंग मामले की जांच के सिलसिले में यह कार्रवाई की गयी। ईडी ने कहा कि अलकेमिस्ट समूह की 14 कंपनियों के पंजीकृत कार्यालयों समेत दिल्ली और चंडीगढ़ में सात स्थानों पर बृहस्पतिवार को छापेमारी की गयी। अलकेमिस्ट समूह सांसद सिंह द्वारा नियंत्रित कंपनी है। ईडी ने एक बयान में कहा, ‘‘इन छापेमारी में के.डी.सिंह के दिल्ली स्थित आवास से घुमा-फिरा कर किये लेनेदेन से संबंधित कई दस्तावेज, डिजिटल सबूत तथा संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किये गये। इनके साथ ही 32 लाख रुपये नकद तथा 10 हजार अमेरिकी डॉलर भी जब्त किये गये।’’

इसे भी पढ़ें: ममता के निमंत्रण के बाद स्वप्न दासगुप्ता ने बीरभूम कोल ब्लॉक का उद्घाटन नहीं करने की अपील की

बयान में कहा गया कि सांसद सिंह का आधिकारिक आवास यहां लुटियंस क्षेत्र में तुगलक लेन में स्थित है। ईडी ने जांच के सिलसिले में सांसद को पिछले साल समन जारी किया था। ईडी ने यह कार्रवाई ऐसे समय की है जब तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली में ही हैं। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात भी कर चुकी हैं। ईडी ने कहा कि उसने सांसद के चंडीगढ़ स्थित आवास तथा उनकी कंपनियों से जुड़े दो निदेशकों के घर की भी तलाशी ली। ईडी मनी लौंड्रिंग के दो मामलों में सिंह, उनसे जुड़ी कंपनियों तथा उनके सहयोगियों के खिलाफ जांच कर रही है। पहला मामला कोलकाता पुलिस की प्राथमिकी पर तथा दूसरा मामला बाजार नियामक सेबी के आरोपपत्र पर आधारित है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।