UP के फिरोजाबाद में 1 सितंबर से नहीं खुलेंगे कक्षा 1 से 5वीं तक के स्कूल, योगी सरकार ने दिए आदेश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2021   14:13
UP के फिरोजाबाद में 1 सितंबर से नहीं खुलेंगे कक्षा 1 से 5वीं तक के स्कूल, योगी सरकार ने दिए आदेश

उप्र में डेंगू का असर काफी बढ़ रहा है जिसको देखते हुए फिरोजाबाद में आठवीं कक्षा तक स्कूल छह सितंबर तक बंद करने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने बताया कि यह आदेश सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूलों के साथ-साथ अध्यापन कार्य कर रहे सभी संस्थानों पर लागू रहेगा।

फिरोजाबाद (उप्र)। उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में डेंगू केबढ़ते प्रकोप को देखते हुये जिला प्रशासन ने कक्षा एक से लेकर कक्षा आठ तक के सभी स्कूलों को छह सितंबर तक बंद करने का आदेश दिया है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फिरोजाबाद दौरे के बाद देर रात प्रशासन ने यह कदम उठाया। डेंगू के बढ़ते प्रकोप को लेकर जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला विद्यालय निरीक्षक को पत्र जारी करते हुए आठवीं कक्षा तक के लिये सभी स्कूलों को छह सितंबर तक बंद करने का आदेश दिया है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश कांग्रेस के 2 नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा, कहा- वफादार सदस्यों की हो रही उपेक्षा

जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने बताया कि यह आदेश सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूलों के साथ-साथ अध्यापन कार्य कर रहे सभी संस्थानों पर लागू रहेगा। यदि किसी के द्वारा इस आदेश की अवहेलना की जाएगी तो उसके खिलाफ दंडात्मक व विधिक कार्यवाही की जाएगी। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिरोजाबाद जिले में डेंगू के कहर की वजह से अब तक करीब 40 लोगों की मौत पर कड़ा रुख अपनाते हुए सोमवार को कहा कि इस मामले की सर्विलांस टीम से जांच करायी जाएगी। जिला प्रशासन ने अब तक 32 बच्‍चों समेत करीब 40 लोगों की डेंगू से मौत की पुष्टि की है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।