छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में तीन इनामी नक्सलियों समेत आठ ने आत्मसमर्पण किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 29, 2020   16:25
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में तीन इनामी नक्सलियों समेत आठ ने आत्मसमर्पण किया

छत्तीसगढ़ में आठ नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। अधिकारियों ने बताया कि आत्समर्पण करने वाले नक्सलियों में आयतू भास्कर पर तीन लाख रूपए तथा राजू कारम और महेश कुमार डोडी पर एक-एक लाख रूपए का इनाम है।

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में तीन इनामी नक्सलियों समेत आठ नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है। दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि जिले में चल रहे लोन वर्राटू (घर वापस आइए) अभियान से प्रभावित होकर सोमवार को आठ नक्सलियों-- भैरमगढ़ के एरिया प्लाटून नंबर 13 के सेक्सन सी का कमांडर आयतू भास्कर (25), भैरमगढ़ एरिया कमेटी के चेतना नाट्य मंडली के अध्यक्ष राजू कारम (25), भूमकाल मिलिशिया कमांडर महेश कुमार डोडी (26), भूमकाल मिलिशिया सेक्सन ए का कमांडर लखमा ताती (22), सीएनएम सदस्य भीमा बारसे (28), जनमिलिशिया सदस्य सोना ताती (20), जनमिलिशिया सदस्य माड़का बारसे (21), और मलांगेर एरिया कमेटी का सप्लायर पिट्टे उर्फ भीमा मण्डावी (35) ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि आत्समर्पण करने वाले नक्सलियों में आयतू भास्कर पर तीन लाख रूपए तथा राजू कारम और महेश कुमार डोडी पर एक—एक लाख रूपए का इनाम है। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ से उत्तर प्रदेश जा रही रही मजदूरों से भरी बस मध्य प्रदेश में पलटी, दो की मौत

उन्होंने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों के खिलाफ पुलिस दल पर हमला करने, ग्रामीणों की हत्या करने, वाहनों में आगजनी करने तथा शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने समेत कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नक्सली भीमा बारसे, सोना ताती, माड़का बारसे और पिट्टे 2019 में भारतीय जनता पार्टी के विधायक भीमा मंडावी के वाहन को विस्फोट से उड़ाने की घटना में शामिल थे। इस घटना में विधायक मंडावी की मृत्यु हो गई थी। उन्होंने बताया कि दंतेवाड़ा जिले के विभिन्न गांवों के व्यक्ति जो प्रतिबंधित नक्सली संगठन में सक्रिय हैं, उन्हें आत्मसमर्पण कर सम्मान पूर्वक जीवन यापन करने लिए लोन वर्राटू अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत क्षेत्र के नक्सलियों का नाम थाना, शिविरों और ग्राम पंचायतों में चस्पा कर उनसे वापस घर लौटने की अपील की जा रही है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पिछले सात माह में लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर 61 इनामी नक्सली समेत 226 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। उन्होंने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों को 10—10 हजार रूपए प्रोत्साहन राशि प्रदान किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।