महज 5 रुपये के लेन-देन के विवाद में बुजुर्ग दंपति को पेट्रोल डालकर आग से जलाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 23, 2021   15:06
महज 5 रुपये के लेन-देन के विवाद में बुजुर्ग दंपति को पेट्रोल डालकर आग से जलाया

सहारनपुर में महज पांच रुपये के लिए शराबियों ने बुजुर्ग दंपति को आग के हवाले कर दिया।पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अतुल शर्मा ने बताया कि थाना मिर्जापुर के मरोड़गढ़ में राजेन्द्र (67) और उनकी पत्नी कमलेश (65) अपने घर के सामने ही पान की दुकान चलाते हैं।

सहारनपुर।उतरप्रदेश के सहारनपुर जिले में मिर्जापुर थानाक्षेत्र में नशे में धुत दो लोगों ने बुजुर्ग दंपति को महज पांच रुपये के लेन-देन के विवाद में पेट्रोल डालकर आग लगा दी जिससे दंपति झुलस गए। घायल दंपति को उपचार के लिये जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफतार कर लिया है। वृद्धि दम्पति की पुत्री ने दोनों शराबियों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अतुल शर्मा ने बताया कि थाना मिर्जापुर के मरोड़गढ़ में राजेन्द्र (67) और उनकी पत्नी कमलेश (65) अपने घर के सामने ही पान की दुकान चलाते हैं।

इसे भी पढ़ें: यूपी में धर्मांतरण सिंडिकेट का भंडाफोड़, कलीम सिद्दकी गिरफ्तार, हवाला फंडिंग का आरोप

उन्होंने बताया कि अपनी दुकान में बेचने लिये केन में थोडा पेट्रोल भी रखते थे ताकि कुछ मुनाफे के साथ बिक्री की जा सके। बुधवार शाम शराब के नशे में धुत आरोपी सावेज और हशमूद दंपति की दुकान पर आए और आधा लीटर पेट्रोल बाइक में भरवाया। राजेन्द्र ने इन लोगों से पेट्रोल के 55 रुपये मांगे लेकिन ये दोनों 50 रुपये पर अड़े हुए थे। पुलिस के मुताबिक पांच रुपये को लेकर राजेन्द्र और आरोपियों में कहासुनी हो गई जिसके बाद दोनों ने दुकान पर रखा पेट्रोल उठाकर राजेन्द्र पर छिड़क दिया ओर आग लगा दी और बीच-बचाव में उतरी उनकी पत्नी पर भी आरोपियों ने पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।