चुनाव आयोग ने गौतम गंभीर को कारण बताओ नोटिस जारी किया

election-commission-issues-show-cause-notice-to-gautam-gambhir
गंभीर और प्रकाशन को 29 अप्रैल को जारी नोटिस में दो मई तक निर्वाचन आयोग द्वारा गठित मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति से हासिल दस्तावेज पेश करने को निर्देश दिया गया है। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी। भाजपा ने मौजूदा सांसद महेश गिरी की जगह गंभीर को पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट से उम्मीदवार बनाया है।

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के पूर्वी दिल्ली से प्रत्याशी गौतम गंभीर को निर्वाचन अधिकारियों ने कथित तौर पर एक राष्ट्रीय अखबार में उनकी तस्वीर वाला विज्ञापन छपने पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के सिलसिले में कारण बताओ नोटिस जारी किया है। पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक पूर्वी दिल्ली के मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति ने 26 अप्रैल को अखबार में आए एक विज्ञापन पर संज्ञान लिया जिसमें एक क्रिकेट गेम एप-क्रिकप्ले- का प्रचार करते हुए साथ में गंभीर की तस्वीर आई थी। 

इसे भी पढ़ें: गंभीर है राजनीति में गौतम की पिच, फिर भी चुनौतियां का करेंगे डटकर सामना

इसमें कहा गया, “यह एक छद्म विज्ञापन लगता है जो एक खास राजनीतिक दल की तरफ से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार के पक्ष में राजनीतिक पहल नजर आता है और यह आदर्श आचार संहिता के विपरीत है। नोटिस के मुताबिक, ‘अब मेरे साथ इंडिया खेलेगा’ टैगलाइन वाले विज्ञापन इस खेल के विजेताओं को रोज नकद इनाम दिये जाने का भी जिक्र है। गंभीर और प्रकाशन को 29 अप्रैल को जारी नोटिस में दो मई तक निर्वाचन आयोग द्वारा गठित मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति से हासिल दस्तावेज पेश करने को निर्देश दिया गया है। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी। भाजपा ने मौजूदा सांसद महेश गिरी की जगह गंभीर को पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट से उम्मीदवार बनाया है। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़