• जम्मू कश्मीर के राजौरी में संदिग्ध आतंकवादियों की तलाश के दौरान मुठभेड़

सुरक्षा बलों ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार से आतंकवादियों की संदिग्ध गतिविधि की सूचना मिलने के बाद रविवार को जम्मू कश्मीर में राजौरी जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में घेराबंदी और तलाश अभियान चलाया। इस दौरान आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुयी।

जम्मू। सुरक्षा बलों ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार से आतंकवादियों की संदिग्ध गतिविधि की सूचना मिलने के बाद रविवार को जम्मू कश्मीर में राजौरी जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में घेराबंदी और तलाश अभियान चलाया। इस दौरान आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुयी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ उस समय शुरू हुई जब मंजाकोटे इलाके में बारोटे गली के नजदीक डोरी माल जंगलों में आतंकवादियों ने सेना और पुलिस की संयुक्त टीम पर गोलीबारी की।

इसे भी पढ़ें: किताब की अलोचना कर रहे लोगों को प्रियंका चोपड़ा का जवाब, कहा- किताब से कोई नाम नहीं हटाउंगी

अधिकारियों ने बताया कि दोनों पक्षों की ओर से गत कुछ घटों से गोलीबारी हो रही है लेकिन किसी के हताहत होने की तत्काल कोई खबर नहीं है। अधिकारियों के अनुसार रविवार तड़के बारोटे गली के वन इलाके में और थानामंडी के हिस्सों में पुलिस तथा सेना ने संयुक्त अभियान शुरू किया। इससे पहले सुरक्षा बलों को खुफिया सूचना मिली थी कि घुसैपठ करने में सफल रहे आतंकवादियों का एक समूह जंगलों में छिपा हुआ है।

इसे भी पढ़ें: मेरठ के शहीद मेजर मयंक का पुरे सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार,पिता ने दी मुखाग्नि

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘मुठभेड़ चल रही है और विस्तृत जानकारी का इंतजार है।’’ जम्मू क्षेत्र के राजौरी और पुंछ जिलों में इस साल जून से घुसपैठ की कोशिशों में इजाफा देखा गया है और मुठभेड़ की अलग-अलग घटनाओं में नौ आतंकवादी मारे जा चुके हैं। पहले के अभियानों में तीन जवान भी शहीद हुए हैं।