CAA पर EU के प्रस्ताव पर गुरुवार को मतदान नहीं: सरकारी सूत्र

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 30, 2020   09:59
CAA पर EU के प्रस्ताव पर गुरुवार को मतदान नहीं: सरकारी सूत्र

एक सूत्र ने कहा,‘‘ ब्रेक्जिट से ठीक पहले भारत के खिलाफ यूरोपीय संसद में प्रस्ताव पारित कराने के निवर्तमान ब्रिटिश एमईपी शफ्फाक मोहम्मद के प्रयास असफल रहे।’’ सरकार कहती आ रही है कि सीएए भारत का आंतरिक मामला है और इसे समुचित प्रक्रिया का पालन कर अपनाया गया है।

नयी दिल्ली। संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) पर भारत को उस वक्त कूटनीतिक सफलता हासिल हुई जब यह निर्णय लिया गया कि सीएए पर यूरोपीय संसद के प्रस्ताव पर गुरुवार को मतदान नहीं होगा। सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी। यूरोपीय संसद के छह राजनीतिक दलों के सदस्यों ने भारत के सीएए के खिलाफ एक संयुक्त प्रस्ताव पेश किया और इसे भेदभाव करने वाला करार दिया। सूत्रों ने कहा कि बुधवार को फ्रेंड्स ऑफ पाकिस्तान पर फ्रेंड्स ऑफ इंडिया हावी रहे।

इसे भी पढ़ें: बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति राजनीतिक दलों के साथ करेंगे बैठक

एक सूत्र ने कहा,‘‘ ब्रेक्जिट से ठीक पहले भारत के खिलाफ यूरोपीय संसद में प्रस्ताव पारित कराने के निवर्तमान ब्रिटिश एमईपी शफ्फाक मोहम्मद के प्रयास असफल रहे।’’ सरकार कहती आ रही है कि सीएए भारत का आंतरिक मामला है और इसे समुचित प्रक्रिया का पालन कर अपनाया गया है। सूत्रों ने कहा कि हमें उम्मीद है कि सीएए पर हमारे नजरिये को यूरोपीय संघ के सांसदों द्वारा निष्पक्ष और खुले मन से समझा जाएगा।

इसे भी पढ़ें: मतदान को पुनीत कर्तव्य मान कर देशवासी मताधिकार का प्रयोग करें: वेंकैया नायडू

 BJP के खिलाड़ियों की टीम का हुआ विस्तार, Saina Nehwal पार्टी में शामिल





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।