उत्तर प्रदेश में योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, जितिन प्रसाद सहित 7 मंत्रियों ने ली मंत्री पद की शपथ

उत्तर प्रदेश में योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, जितिन प्रसाद सहित 7 मंत्रियों ने ली मंत्री पद की शपथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए भाजपा नेता जितिन प्रसाद, छत्रपाल सिंह, पल्टू राम, संगीता बिंद, धर्मवीर प्रजापति, संजीव कुमार, दिनेश खटीक को शपथ दिलाई। जितिन प्रसाद कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली और अन्य ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए भाजपा नेता जितिन प्रसाद, छत्रपाल सिंह, पल्टू राम, संगीता बिंद, धर्मवीर प्रजापति, संजीव कुमार, दिनेश खटीक को शपथ दिलाई। जितिन प्रसाद कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली और अन्य ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली। शपथ ग्रहण शाम साढ़े पांच बजे राजभवन में हुआ। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब में चन्नी सरकार का हुआ कैबिनेट विस्तार, कांग्रेस के 15 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ 

यूपी मंत्रिमंडल विस्तार में इन मंत्रियों ने शपथ ली

1) जितिन प्रसाद (शहाजहांपुर) - (ब्राह्मण - सवर्ण)

2) संगीता बलवंत बिंद (ग़ाज़ीपुर) - (मल्लाह ओबीसी)

3) धर्मवीर प्रजापति (आगरा) - (कुम्हार - ओबीसी) 

4) पलटूराम (बलरामपुर) - (अनुसूचित जाति) 

5) छत्रपाल गंगवार (बरेली) - (कुर्मी - ओबीसी)

6) दिनेश खटिक (मेरठ) - (दलित - एससी)

7) संजय गौड़ (सोनभद्र) - (अनुसूचित जनजाति-एसटी)

उत्तर प्रदेश योगी मंत्रिमंडल आखिरी विस्तार

 उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल के बहुप्रतीक्षित विस्तार के तहत रविवार को कांग्रेस के पूर्व वरिष्‍ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रह चुके जितिन प्रसाद समेत सात मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजभवन के गांधी सभागार में आयोजित एक सादे समारोह में जितिन प्रसाद, पलटू राम, धर्मवीर प्रजापति, छत्रपाल गंगवार, संगीता बलवंत, संजीव कुमार गौड़ और दिनेश खटिक को मंत्री पद की शपथ दिलाई। प्रसाद को कैबिनेट मंत्री जबकि अन्‍य को राज्‍य मंत्री पद की शपथ दिलायी गयी। पूर्व में केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री रह चुके जितिन प्रसाद हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। उन्हें राज्य मंत्रिमंडल में विस्तार के तहत मंत्री पद दिया जाना तय माना जा रहा था। प्रदेश मंत्रिमंडल का विस्तार ऐसे समय किया गया है जब राज्य विधानसभा चुनाव में बमुश्किल पांच महीने रह गए हैं। इस मंत्रिमंडल विस्तार से पहले प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री समेत 23 कैबिनेट मंत्री, नौ स्‍वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री और 21 राज्य मंत्री थे। राज्य विधानसभा में सदस्‍यों की संख्‍या 403 है, ऐसे में नियमानुसार 60 मंत्री बनाये जा सकते हैं लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार से पूर्व सिर्फ 53 मंत्री थे और सात पद खाली थे जिन्हें आज भरा गया।

मंत्रिमंडल विस्तार पर समाजवादी पार्टी की प्रतिक्रिया

समाजवादी पार्टी अनुराग भदौरिया ने भाजपा के मंत्रिमंड़ल विस्तार पर कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की जमीन खिसक चुकी है इसलिए जातिगत समीकरण को साधने के लिए मंत्रिमंडल विस्तार किया जा रहा है। मंत्रिमंडल विस्तार पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि दलितों और समाज के पिछड़े वर्गों को घेरने के लिए तीतर (हिंदी में तीतर) पैदा किए जा रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।