फडणवीस का महाराष्ट्र सरकार पर आरोप, कोविड-19 से करीब 1,000 लोगों की मौत की सूचना नहीं दी गयी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 26, 2020   10:43
फडणवीस का महाराष्ट्र सरकार पर आरोप, कोविड-19 से करीब 1,000 लोगों की मौत की सूचना नहीं दी गयी

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता ने आरोप लगाया, ‘‘मेरी जानकारी के मुताबिक पिछले तीन महीने में कोविड-19 के कारण 1,000 लोगों की मौत के मामले को सामने नहीं रखा गया।

मुंबई। भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि महाराष्ट्र सरकार राज्य में कोविड-19 से करीब 1000 लोगों की मौत की जानकारी अब तक सामने नही लायी है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को फिर से लिखी चिट्ठी में फडणवीस ने उनसे कोरोना वायरस से हुई मौत की जानकारी कथित रूप से छुपाने के संबंध में जांच कराए जाने का अनुरोध किया। फडणवीस ने 15 जून को मुख्यमंत्री को ऐसी ही एक चिट्ठी लिखी थी जिसमें मुंबई में कोविड-19 से हुई मौत की जानकारी सामने नहीं लाने का जिक्र किया गया था। फडणवीस ने कहा कि 15 जून के उनके पत्र के बाद सरकार ने मुंबई में कोविड-19 से 950 लोगों की मौत की जानकारी दी। 

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए रेमडेसिवीर,फेविपिराविर खरीदेगी महाराष्ट्र सरकार

हालांकि, अपने हालिया पत्र में उन्होंने सरकार पर कोरोना वायरस से हुई करीब 1000 लोगों की मौत की जानकारी छुपाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 से करीब 1,000 लोगों की मौत की संख्या को सामने नहीं रखना राज्य सरकार की गलत नीति है। इन मौतों को अभी तक नहीं जोड़ा गया है। ’’ महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता ने आरोप लगाया, ‘‘मेरी जानकारी के मुताबिक पिछले तीन महीने में कोविड-19 के कारण 1,000 लोगों की मौत के मामले को सामने नहीं रखा गया। कोविड-19 से किसी की मौत होने पर 72 घंटे के भीतर इस बारे में बताना चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘(मेडिकल) रिपोर्ट में हर दिन इनमें से कुछ ही मौत का जिक्र करना एक गलत नीति है। सरकार को मानना चाहिए कि कोविड-19 से हुई कुछ मौतों को उसने नहीं बताया है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने 15 जून को एक पत्र लिखा था जिसके बाद राज्य ने अगले ही दिन मुंबई में 950 मौत के मामले को सामने रखा। सरकार ने बाद में कुछ और मौत को इसमें शामिल किया। इस तरह अकेले मुंबई में ही 1,200 मौत के मामले सामने आये जिनमें से कुछ मामलों को पहले नही सामने लाया गया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।