फडणवीस ने महाराष्ट्र के CM से कहा, कोरोना से निपटने में मजबूत नेतृत्व का प्रदर्शन करें

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   20:50
फडणवीस ने महाराष्ट्र के CM से कहा, कोरोना से निपटने में मजबूत नेतृत्व का प्रदर्शन करें

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए विपक्षी नेता ने कहा कि ठाकरे को शिवसेना नीत सरकार के अन्य घटकों (सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल कांग्रेस और राकांपा) के समर्थन की जरूरत है और उनका ध्यान बिना किसी निहित हितों के कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ होना चाहिए।

मुंबई। भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से कोरोना वायरस की महामारी के बीच मजबूत नेतृत्व का प्रदर्शन करने के लिए कहा। उल्लेखनीय है कि देश में कोविड-19 के आए मामलों में सबसे अधिक मरीज महाराष्ट्र में हैं। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए विपक्षी नेता ने कहा कि ठाकरे को शिवसेना नीत सरकार के अन्य घटकों (सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल कांग्रेस और राकांपा) के समर्थन की जरूरत है और उनका ध्यान बिना किसी निहित हितों के कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ होना चाहिए। फडणवीस ने दावा किया, ‘‘इस समय राज्य सरकार में कोई समन्वय नहीं है। शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की हुई बैठक में कांग्रेस के मंत्रियों को आमंत्रित नहीं किया गया।’’

राजभवन के राजनीति के केंद्र बनने के आरोपों पर जवाब देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष होने के नाते राज्यपाल को ज्ञापन सौंपना उनका अधिकार है। उन्होंने कहा, ‘‘जब मुख्यमंत्री सुलभ नहीं हो और जब समस्या का समाधान नहीं हो, तब हम कहां जाएं?’’ फडणवीस राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ राजभवन में हाल में हुई बैठक का संदर्भ दे रहे थे जिसमें उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में राज्य सरकार की कथित विफलता की शिकायत की थी। शिवसेना ने फडणवीस की राज्यपाल के साथ हुई मुलाकात पर आपत्ति जताया और भाजपा का नाम लिए बिना राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिश रचने का आरोप लगाया। इस बीच, फडणवीस ने राज्य की सत्ता पर काबिज महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार से कहा कि वह कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ लड़ाई में विपक्ष को भरोसे में ले। उन्होंने कहा, ‘‘जब हम रचनात्मक सुझाव देते हैं तो हमें सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाता है। आप (सत्तारूढ़ पार्टियां) राजनीति में शामिल हैं और हमपर आरोप लगा रहे हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र सरकार पर राहुल की टिप्पणी का लक्ष्य शिवसेना और मुख्यमंत्री पर दोष मढ़ना: भाजपा

कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के तरीके पर सरकार की आलोचना करते हुए फडणवीस ने कहा, ‘‘लोगों को एंबुलेंस तक नहीं मिल रही। अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या अपर्याप्त है। निजी अस्पताल लोगों से भारी कीमत वसूल रहे हैं। ऐसा लगता है कि प्रशासन पर से सरकार का नियंत्रण समाप्त हो गया है।’’ फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र को केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के ‘‘ आत्मनिर्भर’’ पैकेज से 78 हजार करोड़ रुपये मिल सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र पहले ही महाराष्ट्र को कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने के लिए 28,104 करोड़ रुपये की राशि दे चुका है। केंद्रीय पैकेज में राज्य का हिस्सा 1.65 लाख करोड़ रुपये का है। सरकार को प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए साहसिक कदम उठाने जरूरत है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।