Female Army Officers: सेना में महिलाओं के बढ़ते कदम, 108 का कर्नल पद पर प्रमोशन

Female Army Officers
Creative Common
अभिनय आकाश । Jan 20, 2023 12:28PM
अब तक करीब 80 महिलाओं का चयन भारतीय सेना में कर्नल के पद के लिए हो चुका है। सेना में महिलाओं के प्रमोशन का यह सिलसिला 9 जनवरी 2023 से शुरू हुआ था, जो 22 जनवरी 2023 को खत्म होगा। सेना के सूत्रों के मुताबिक उनकी पोस्टिंग जनवरी 2023 के अंत तक हो जाएगी।

भारतीय सेना में महिलाओं के कदम लगातार ऊंचाईयों को छू रहे हैं। भारतीय सेना में पुरुषों को टक्कर देते हुए महिला बल ने एक कदम आगे बढ़ाय़ा है। आजादी के 75 साल बाद पहली बार भारतीय सेना में कर्नल के पद पर 108 महिलाओं के चयन के लिए सेना बोर्ड का गठन किया गया है। भारतीय सेना के एक बयान के अनुसार, यह पहली बार है जब भारतीय सेना की महिला सदस्यों को एक पूरी सेना इकाई की कमान संभालने की जिम्मेदारी मिलने जा रही है। सेना के अधिकारियों की पदोन्नति की प्रक्रिया लगभग अंतिम चरण में है।

इसे भी पढ़ें: Lt Governor Saxena ने केजरीवाल को पत्र लिखकर ‘भ्रामक, अपमानजक टिप्प्णी’ करने का आरोप लगाया

ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक अब तक करीब 80 महिलाओं का चयन भारतीय सेना में कर्नल के पद के लिए हो चुका है। सेना में महिलाओं के प्रमोशन का यह सिलसिला 9 जनवरी 2023 से शुरू हुआ था, जो 22 जनवरी 2023 को खत्म होगा। सेना के सूत्रों के मुताबिक उनकी पोस्टिंग जनवरी 2023 के अंत तक हो जाएगी। सेना के अधिकारियों ने कहा कि सेना की विभिन्न शाखाओं (जैसे इंजीनियर, सिग्नल, इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल इंजीनियर, आर्मी एयर डिफेंस, आर्मी ऑर्डनेंस कोर, इंटेलिजेंस कॉर्प्स, आर्मी सर्विस कॉर्प्स) में कर्नल के पद के लिए कुल 108 रिक्तियां थीं। इसके लिए 244 महिला सैन्य अधिकारियों में से महिला सेना सदस्यों का चयन योग्यता के आधार पर 'कर्नल रैंक' के लिए किया गया है।

इसे भी पढ़ें: Swati Maliwal Molestation Case | स्वाति मालीवाल के साथ हुई घटना को लेकर अरविंद केजरीवाल ने LG को घेरा, कहा- राजनीति छोड़कर कानून व्यवस्था पर ध्यान दें उपराज्यपाल

रक्षा विभाग के सूत्रों के अनुसार कोर ऑफ इंजीनियर्स में अधिकतम 28 रिक्तियों के लिए 65 महिलाओं पर विचार किया गया है। इसके बाद आर्मी ऑर्डनेंस कॉर्प्स और इलेक्ट्रिकल-मैकेनिकल इंजीनियरिंग में 19 और 21 रिक्तियां हैं और 47 महिला अधिकारियों को कर्नल के पद के लिए माना जाता है। भविष्य में उच्च पदों पर पदोन्नति के लिए महिला अधिकारियों पर भी विचार किया जाएगा। सेना के सूत्रों के मुताबिक, इस कदम का मकसद भारतीय सेना में महिलाओं के सशक्तिकरण को बढ़ाना है।

अन्य न्यूज़