Prabhasakshi NewsRoom । दिल्ली में प्रदूषण से जंग, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, कश्मीर में ग्रेनेड हमला

Prabhasakshi NewsRoom । दिल्ली में प्रदूषण से जंग, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, कश्मीर में ग्रेनेड हमला

राय ने संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक के बाद राय ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को मजबूत करने के लिए 1,000 निजी सीएनजी बसों को तैनात किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया बृहस्पतिवार से शुरू की जाएगी।

दिल्ली में वायु प्रदूषण की वजह से स्थिति लगातार खराब होती जा रही है। प्रदूषण को लेकर अब सुप्रीम कोर्ट ने भी सख्ती दिखाई है और अधिकारियों की भी जमकर क्लास ली है। वहीं, दिल्ली सरकार ने प्रदूषण को लेकर उठाए गए कदमों की जानकारी दी है। तो भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर जमकर हमला किया है। इन्हीं मुद्दों पर आज हम आपको न्यूज़ रूम में बताएंगे। लेकिन यह भी बताएंगे कि कैसे आतंकी अब भी घाटी को अशांत करने में लगे हुए हैं। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom I अमेरिकी धमकियों से नहीं डरी मोदी सरकार, एस-400 मिसाइल लाकर बढ़ाई वायु रक्षा प्रणाली की ताकत

सरकार के उपाए

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि शहर में बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर उनकी सरकार ने अगले आदेश तक स्कूल तथा अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद रखने और आवश्यक सेवाओं के अलावा, बाहर से आने वाले वाहनों के शहर में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के कर्मचारियों के लिए ‘वर्क फ्रॉम होम’ की व्यवस्था रविवार तक जारी रहेगी। राय ने संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक के बाद राय ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को मजबूत करने के लिए 1,000 निजी सीएनजी बसों को तैनात किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया बृहस्पतिवार से शुरू की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom I अमित शाह ने यूपी में दिया 300+ सीटों का नारा । ट्रेनों का किराया घटने से रेलयात्री खुश

कोर्ट की फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने अकर्मण्यता को लेकर नौकरशाही की आलोचना करते हुए कहा कि उसने ‘निष्क्रियता’ विकसित की है और कोई फैसला नहीं करना चाहती तथा वह हर चीज अदालत के भरोसे छोड़ना चाहती है। कोर्ट ने कहा, ‘‘यह उदासीनता और सिर्फ उदासीनता है।’’ प्रधान न्यायाधीश एन वी रमण, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की तीन सदस्यीय पीठ ने कहा, ‘‘काफी समय से मैं यह महसूस कर रहा हूं कि नौकरशाही में एक तरह की निष्क्रियता विकसित हो गई है। वह कोई निर्णय लेना नहीं चाहती। किसी कार को कैसे रोकें, किसी वाहन को कैसे जब्त करें, आग पर कैसे काबू पाएं, यह सब कार्य इस अदालत को करना है। हर काम हमें ही करना होगा। यह रवैया अधिकारी वर्ग ने विकसित किया है। शीर्ष अदालत ने वायु प्रदूषण से जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई के दौरान नौकरशाही के रवैये पर यह टिप्पणी की। कोर्ट ने यह भी कहा कि टेलीविजन समाचार चैनलों पर होनी वाली परिचर्चाएं दूसरी चीजों से कहीं अधिक प्रदूषण फैला रही हैं और न्यायालय में सुनवायी के दौरान दिये जाने वाले वक्तव्यों का संदर्भ से बाहर इस्तेमाल किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom | राहुल-प्रियंका-अखिलेश के चुनावी नारों पर स्मृति ईरानी का कटाक्ष, खुर्शीद को भी लिया आड़े हाथ

भाजपा का हमला

प्रदूषण को लेकर भाजपा ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर हमला किया है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि प्रदूषण जिस प्रकार से हमारे बच्चों के भविष्य के स्वास्थ्य पर एक कुठाराघात कर रही है, तब स्वाभाविक है कि इसमें राजनीतिक को दर किनार करते हुए हम सभी को एक हो जाना चाहिए। बड़े दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि दिल्ली से ही ये प्रेस कांफ्रेंस हो रही है और अगर देश का कोई राज्य सर्वाधिक प्रदूषण से ग्रसित है तो वो दिल्ली है। पराली को लेकर बहुत चर्चायें हुई कि किस प्रकार पराली से सर्वाधिक प्रदूषण फैल रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने पराली के विषय में बहुत कुछ कहा है। दिल्ली में होने वाले प्रदूषण के लिए केजरीवाल जी ने पंजाब और हरियाणा के किसानों को जिम्मेदार ठहराया है। लेकिन अगर पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने से दिल्ली में प्रदूषण हो रहा है तो सबसे ज्यादा प्रदूषण तो पंजाब और हरियाणा में होना चाहिए। लेकिन दिल्ली की हवा की क्वालिटी ज्यादा खराब है, ऐसा क्यों? उन्होंने कहा कि पिछली बार सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल सरकार को फटकार लगाई और कहा कि हम ऑडिट कराकर देखें क्या कि आप कितनी आमदनी करते हैं और उसमें से कितना अपने विज्ञापन पर खर्च करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom : सचिन पायलट को मिलेगा सब्र का फल, आखिरकार आलाकमान ने गहलोत को मनाया

आंतकी हमला

बुधवार को उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले के पलहलान इलाके में तैनात सुरक्षा बलों पर संदिग्ध आतंकवादियों द्वारा ग्रेनेड फेंके जाने के बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के दो जवान और दो नागरिक घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। हमले के तुरंत बाद, सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी और आतंकवादियों का पता लगाने के लिए तलाशी अभियान शुरू किया। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने उत्तर कश्मीरी जिले के पट्टन इलाके के पलहल्लन चौक के पास पूर्वाह्न सवा 11 बजे ग्रेनेड हमला किया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।