अंडरवियर वाले बयान पर आजम के खिलाफ FIR, चुनाव आयोग ने लगाया प्रतिबंध

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 16 2019 8:42AM
अंडरवियर वाले बयान पर आजम के खिलाफ FIR, चुनाव आयोग ने लगाया प्रतिबंध
Image Source: Google

हालांकि आजम ने एक दिन बाद सफाई देते हुये कहा कि उन्होंने अपने भाषण में किसी का नाम नहीं लिया और अगर किसी का नाम लिया हो तो वह चुनाव नहीं लड़ेंगें।

लखनऊ/ दिल्ली। उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से सपा-बसपा गठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी आजम खान के भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा के खिलाफ एक तथाकथित विवादित बयान को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस पर कार्रवाई करते हुए चुनाव आयोग ने उनके तीन दिन तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है। वहीं भाजपा ने इस पर कड़ा एतराज जताया है। रामपुर के जिलाधिकारी आजेन्य कुमार सिंह ने सोमवार को कहा,  आजम खान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 509 (किसी स्त्री की मर्यादा का अनादर करने के आशय से कोई अश्लील शब्द कहना या हावभाव प्रकट करना) और कुछ अन्य धाराओं में मामला दर्ज कराया गया है। निर्वाचन आयोग ने जयाप्रदा के बारे में रविवार को दिये गये खान के आपत्तिजनक बयान को चुनाव आचार संहिता उल्लंघन माना और कड़ी फटकार लगायी। साथ ही अगले तीन दिन तक प्रचार करने से रोक दिया है। यह दूसरा मौका है जब आजम खान को आयोग द्वारा प्रचार करने से प्रतिबंधित किया गया हो।

वहीं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्विटर पर कहा, ‘‘ आजम खान का जया प्रदा के खिलाफ दिया गया बेहूदा बयान ना सिर्फ उनका बल्कि देश की करोड़ों मांओं और बहनों का अपमान है। यह देश की महाशक्ति (महिला शक्ति) का तिरस्कार है।’’ साथ ही उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती से सवाल किया कि क्या वह खान के बयान का समर्थन करते हैं? आरोप है कि सपा नेता और राज्य के पूर्व मंत्री खान ने रविवार को जयाप्रदा के खिलाफ वह ‘अमर्यादित’ बयान दिया। सोशल मीडिया पर वायरल सामग्री के अनुसार खान ने अपनी चुनाव रैली में कहा था,  रामपुर वालों, उत्तर प्रदेश वालों, हिन्दुस्तान वालों, उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गये। मैं 17 दिनों में पहचान गया कि इनके नीचे का जो अंडरवियर है वह खाकी रंग का है। 
हालांकि आजम ने एक दिन बाद सफाई देते हुये कहा कि उन्होंने अपने भाषण में किसी का नाम नहीं लिया और अगर किसी का नाम लिया हो तो वह चुनाव नहीं लड़ेंगें। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने खान के बयान की निंदा की और कहा, ‘‘आजम का यह बयान समाजवादी पार्टी की घटिया सोच को दर्शाता है।’’जयाप्रदा ने कहा, ‘‘वह लक्ष्मण रेखा पार कर गये, अब मेरे लिये कोई (आजम) भाई नहीं है। भाई मान के सब कुछ सहने का काम किया था अब बर्दाश्त खत्म हो गया। जनता जो है वह बतायेगी, लोग महिलाओं को पूजते हैं, यह आदमी क्या कर रहा है? इसको चुनाव लड़ने का अधिकार है। मैं चुनाव आयोग से अपील करती हूं कि इनके चुनाव लड़ने की योग्यता खत्म हो जाए। वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को एक पत्र लिखकर दो घटनाओं का जिक्र किया जब उन्होंने जया प्रदा के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की। उन्होंने निर्वाचन आयोग से उनके खिलाफ “कड़ी कार्रवाई” का अनुरोध किया है।

 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video