प्रथम चरण का मतदान खत्म, असम में 72 तो पश्चिम बंगाल में करीब 80 फीसदी वोटिंग

First phase voting ends
अंकित सिंह । Mar 27, 2021 8:44PM
अधिकारियों ने बताया कि राज्य में कड़ी सुरक्षा के बीच 30 सीटों पर मतदान हुआ, जिनमें से ज्यादातर सीटें कभी नक्सल प्रभावित इलाका रहे जंगल महल में हैं। पुरुलिया में सभी नौ सीटों, बांकुड़ा में चार, झाड़ग्राम में चार, पश्चिमी मेदिनीपुर में छह सीटों और पूर्व मेदिनीपुर में सात सीटों पर कोविड-19 संबंधी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए मतदान कराया गया।

शनिवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव और असम विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए वोट डाले गए। असम के 47 सीटों पर मतदान हुआ जबकि बंगाल के 30 सीटों के लिए वोट डाले गए। निर्वाचन आयोग के मुताबिक असम और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के पहले चरण के मतदान में क्रमशः शाम 6 बजे तक 72.14% और 79.79% मतदाता दर्ज हुए। कुल मिलाकर आज हुए मतदान शांतिपूर्ण रहे। हालांकि पश्चिम बंगाल से कुछ छिटपुट घटनाओं की खबर जरूर आई। वहीं, असम में आज हुए चुनाव में कई दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई।

पश्चिम बंगाल में 79.79 प्रतिशत मतदान

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले चरण में शनिवार को शाम 6 बजे तक 79.79 प्रतिशत मतदान दर्ज किया और इस दौरान हिंसा की छिटपुट घटनाएं हुईं, लेकिन कुल मिलाकर माहौल शांतिपूर्ण रहा। अधिकारियों ने बताया कि राज्य में कड़ी सुरक्षा के बीच 30 सीटों पर मतदान हुआ, जिनमें से ज्यादातर सीटें कभी नक्सल प्रभावित इलाका रहे जंगल महल में हैं। पुरुलिया में सभी नौ सीटों, बांकुड़ा में चार, झाड़ग्राम में चार, पश्चिमी मेदिनीपुर में छह सीटों और पूर्व मेदिनीपुर में सात सीटों पर कोविड-19 संबंधी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए मतदान कराया गया। पूर्व मेदिनीपुर के कांठी दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र में मतदाताओं ने ईवीएम मशीनों में खराबी आने पर एक मतदान केंद्र के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने माजना में मतदान केंद्र के बाहर सड़क बाधित की और आरोप लगाया कि वीवीपीएटी पर्चे में दिख रहा है कि उन्होंने जिस पार्टी के लिए मतदान किया है, उसके बजाए मत किसी अन्य पार्टी को पड़ा है। राज्य 30 सीटों पर 73 लाख से अधिक मतदाता 191 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि मतदान शाम छह बजे तक चलेगा और कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान कराया जा रहा है। निर्वाचन आयोग ने 7,061 परिसरों में बनाए 10,288 मतदान केंद्रों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय बलों की करीब 730 टुकड़ियों को तैनात किया है।

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल चुनावः कांग्रेस-वाम-आईएसएफ गठबंधन को किंगमेकर बनने की उम्मीद

असम में 72.14 प्रतिशत मतदान

असम में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 47 सीटों के लिए शनिवार को हुए मतदान में 81.09 लाख मतदाताओं में से शाम 6 बजे तक अनुमानित तौर पर 72.14 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। राज्य में पहले चरण के मतदान में कोविड-19 संबंधी नियमों के सख्ती से पालन पर जोर दिया गया। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि अभी तक मतदान शांतिपूर्ण रहा और ईवीएम में गड़बड़ी की कुछ शिकायतें आयी। मतदान केंद्रों के बाहर लंबी कतारें देखी गई। मतदाता और निर्वाचन अधिकारी कोविड-19 संबंधी नियमों का पालन कर रहे हैं। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने सुबह 11 बजे साहित्य सभा भवन में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। यह ऊपरी असम के डिब्रूगढ़ में उनके गृह नगर का आदर्श मतदान केंद्र है। इस चरण में मुख्यमंत्री सोनोवाल, विधानसभा अध्यक्ष हितेंद्रनाथ गोस्वामी, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख रिपुन बोरा समेत कई मंत्रियों और नेताओं की राजनीतिक किस्मत का फैसला होगा। कई मतदान केंद्रों पर पहले मतदाता का स्वागत पौधा और ‘गमोसा’ (असम का पारपंरिक गम्छा) देकर दिया गया। महिला अधिकारी 479 मतदान केंद्रों पर वशिष्ट रूप से मतदान कार्य संपन्न करा रही हैं। उन्होंने बताया कि पहले चरण में 23 महिलाओं सहित कुल 264 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले चरण में सुरक्षा बलों की कुल 300 कंपनियों को तैनात किया गया है, जिसमें लोग ऊपरी असम और ब्रह्मपुत्र के उत्तरी तटीय 12 जिलों में 11,537 मतदान केंद्रों पर मतदान कर रहे हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़