बलूचिस्तान में आतंकवादी हमलों में पाकिस्तानी सेना के पांच सैनिक मारे गए

Pakistani
पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान सूबे के दो अलग-अलग इलाकों में संदिग्ध आतंकवादियों द्वारा किए गए हमलों में पाकिस्तानी सेना के कम से कम पांच सैनिक मारे गए जबकि अन्य दो घायल हुए हैं।

कराची। पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान सूबे के दो अलग-अलग इलाकों में संदिग्ध आतंकवादियों द्वारा किए गए हमलों में पाकिस्तानी सेना के कम से कम पांच सैनिक मारे गए जबकि अन्य दो घायल हुए हैं। फ्रंटियर कोर के सैनिकों को निशाना बनाकर बृहस्पतिवार को बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा के बाहरी इलाके और कोहलु जिले के दूरदराज इलाके में हमला किया गया। सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि पहला हमला क्वेटा से बाहर बाइपास इलाके में हुआ।

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल के दामों में लगी आग, डीजल के भी बढ़े दाम; जानें अपने शहर के रेट

उन्होंने बताया कि यहां रिमोट संचालित बम कोमोटरसाइकिल में रखकर फ्रंटियर कोर के काफिले को निशाना बनाया गया जिसमें एक सैनिक की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। उन्होंने बताया कि धमाका फ्रंटियर कोर के वाहन के पास हुआ जो गश्त लगा रहा था। अधिकारियों ने बताया कि दूसरा हमला कोहलु जिले के कहान इलाके में हुआ जहां संदिग्ध आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर की जांच चौकी को बृहस्पतिवार देर रात निशाना बनाया और इसमें चार सैनिक मारे गए।

इसे भी पढ़ें: केंद्रीय बलों की 12 कंपनियां पहुंची पश्चिम बंगाल, अप्रैल-मई में होंगे विधानसभा चुनाव

उन्होंने बताया, ‘‘हथियारबंद हमलावरों ने जांच चौकी पर अंधाधुंध फायरिंग की जिसका सैनिकों ने भी जवाब दिया।’’ गौरतलब है कि चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के केंद्र बलूचिस्तान में आतंकवादी और अलगावादी गतिविधियों में इजाफा हुआ है और हाल के दिनों में यहां सुरक्षा बलों पर हमले बढ़े हैं। 15 फरवरी को भी कच्छ के दूरदराज के इलाके में मौजूद फ्रंटियर कोर की जांच चौकी को निशाना बनाया गया था जिसमें एक सैनिक की मौत हुई थी जबकि अन्य एक घायल हुआ था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़