• बिहार में मंडराया बाढ़ का खतरा, बारिश के बीच नेपाल ने छोड़ा 4 लाख 12 हजार क्यूसेक पानी

अंकित सिंह Jun 18, 2021 16:13

चिंता की बात तो यह है कि लगातार हो रही बारिश के बीच नेपाल ने गंडक नदी में 4 लाख 12 हजार क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया है। यही वजह है कि बाल्मीकि नगर के साथ-साथ मोतिहारी, गोपालगंज और सारण में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

बरसात की शुरुआत के साथ ही बिहार में एक बार फिर से बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। कई जिलों में प्रशासन ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है। बिहार के कई जिले मानसून की बारिश की चपेट में हैं। इन सबके बीच नदियां उफान पर हैं। चिंता की बात तो यह है कि लगातार हो रही बारिश के बीच नेपाल ने गंडक नदी में 4 लाख 12 हजार क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया है। यही वजह है कि बाल्मीकि नगर के साथ-साथ मोतिहारी, गोपालगंज और सारण में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। 

इसे भी पढ़ें: आपदा राहत के लिए अलग तंत्र बनाया जाये, बार-बार सेना को बचाव कार्य में लगाना ठीक नहीं

गांवों में बाढ़ का पानी घुसने लगा है। इसको ध्यान में रखते हुए प्रशासन लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाने में जुट गया है। कई गांव और शहरों के मोहल्लों में जल जमाव की स्थिति है। सारण के सत्तर घाट के आसपास बांधों को काटा गया है ताकि पानी बहता रहे। गंडक किनारे बसे कई गांव में फिलहाल पानी घुस चुका है। आपको बता दें कि पिछले साल भी बिहार में बाढ़ की भीषण स्थिति थी। उत्तर बिहार लगभग 3 महीने तक बाढ़ की चपेट में था।