प्रधानमंत्री की माता पर बब्बर की अमर्यादित टिप्पणी के लिये राहुल मांगें माफी: भाजपा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2018   16:09
प्रधानमंत्री की माता पर बब्बर की अमर्यादित टिप्पणी के लिये राहुल मांगें माफी: भाजपा

बब्बर ने गुरुवार रात यहां एक चुनावी रैली में कहा, (प्रधानमंत्री बनने से पहले) मोदी कहते थे कि डॉलर के सामने रुपया इतना गिर गया है कि इसका मूल्य उस वक्त के प्रधानमंत्री (मनमोहन सिंह) की उम्र के करीब जा रहा है।

इंदौर। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के प्रचार के दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता राज बब्बर ने डॉलर के मुकाबले रुपये के मूल्य में गिरावट की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वयोवृद्ध माता की उम्र से तुलना की है। भाजपा ने इस विवादास्पद बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए मांग की है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद इसके लिये माफी मांगें।

बब्बर ने गुरुवार रात यहां एक चुनावी रैली में कहा, "(प्रधानमंत्री बनने से पहले) मोदी कहते थे कि डॉलर के सामने रुपया इतना गिर गया है कि इसका मूल्य उस वक्त के प्रधानमंत्री (मनमोहन सिंह) की उम्र के करीब जा रहा है। प्रधानमंत्री महोदय, आपने तो तब इज्जत से उनका नाम नहीं लिया था। लेकिन हमारी परंपरा यह नहीं कहती। हम तो यह कहना चाहेंगे कि आज रुपया गिरकर आपकी पूजनीय माताजी की उम्र के करीब पहुंचना शुरू हो गया है।" 

बब्बर, उत्तरप्रदेश की कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष हैं। वह 28 नवम्बर को होने वाले विधानसभा चुनावों के प्रचार के लिये गुरुवार को मध्यप्रदेश के दौरे पर थे।

इस बीच, बब्बर की विवादास्पद टिप्पणी पर भाजपा की सख्त प्रतिक्रिया सामने आयी है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सम्बित पात्रा ने शुक्रवार को कहा, "किसी भी व्यक्ति की मां को यूं राजनीति में नहीं घसीटा जाना चाहिये और उसके लिये अमर्यादित शब्दों का उपयोग नहीं किया जाना चाहिये। लेकिन प्रधानमंत्री की मां के प्रति कांग्रेस का रुख हमेशा से अनुचित रहा है और उनके खिलाफ पहले भी अमर्यादित शब्दावली का उपयोग किया जा चुका है।" 

पात्रा ने कहा, "प्रधानमंत्री की माता को लेकर बब्बर की गलत टिप्पणी के लिये खुद राहुल को माफी मांगनी चाहिये। कांग्रेस अध्यक्ष को यह स्पष्ट भी करना चाहिये कि क्या वह इस तरह की बयानबाजी से सहमत हैं?" 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।