पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला की इनेलो का भविष्य अंधकारमय

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 23 2019 7:07PM
पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला की इनेलो का भविष्य अंधकारमय
Image Source: Google

पार्टी में टूट के बाद इनेलो से गठबंधन समाप्त करने वाली बसपा का प्रदर्शन भी अपेक्षाकृत बेहतर रहा। हिसार, सिरसा, सोनीपत, कुरुक्षेत्र और भिवानी- महेन्द्रगढ़ सहित कई सीटों पर इनेलो से दुष्यंत चौटाला की अगुवाई वाली जननायक जनता पार्टी :जजपा : भी आगे रही।

चंडीगढ़। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाली इंडियन नेशनल लोकदल : इनेलो : की चुनावों में लगातार हार का सिलसिला इस आम चुनावों में भी जारी रहा। चौटाला परिवार में पिछले वर्ष कलह के बाद पार्टी टूट गई थी और हरियाणा में इनेलो का राजनीतिक ग्राफ काफी नीचे गिर गया था। पार्टी ने हरियाणा में सभी 10 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे लेकिन चुनाव आयोग के रूझानों के मुताबिक शाम तक इनेलो के उम्मीदवारों का प्रदर्शन खराब था और कुछ सीटों पर पार्टी के उम्मीदवार पांचवें स्थान पर चल रहे थे।


रूझानों के मुताबिक सिरसा से पार्टी के वर्तमान सांसद चरणजीत सिंह रोरी चौथे स्थान पर हैं। पार्टी में टूट के बाद इनेलो से गठबंधन समाप्त करने वाली बसपा का प्रदर्शन भी अपेक्षाकृत बेहतर रहा। हिसार, सिरसा, सोनीपत, कुरुक्षेत्र और भिवानी- महेन्द्रगढ़ सहित कई सीटों पर इनेलो से दुष्यंत चौटाला की अगुवाई वाली जननायक जनता पार्टी :जजपा : भी आगे रही।
2014 के लोकसभा चुनावों में इनेलो ने दो सीटों पर, भाजपा ने सात सीटों पर जबकि कांग्रेस ने रोहतक सीट पर जीत हासिल की थी।


इनेलो का पहले भाजपा के साथ गठबंधन था और पूर्व मुख्यमंत्री चौटाला के नेतृत्व में 1999 से 2004 तक दोनों दलों ने गठबंधन की सरकार चलाई। बहरहाल, मतभेदों के चलते बाद में गठबंधन टूट गया। छह महीने पहले तक राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा के लिए बड़ी चुनौती के तौर पर नजर आ रहे इनेलो का भविष्य पार्टी में टूट के बाद से अंधकारमय दिख रहा है।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video