भाजपा में शामिल हुए कर्नाटक के पूर्व IPS अधिकारी के अन्नामलाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 25, 2020   14:47
भाजपा में शामिल हुए कर्नाटक के पूर्व IPS अधिकारी के अन्नामलाई

कर्नाटक में नौ वर्षों तक विभिन्न पदों पर कार्य करने के बाद अन्नामलाई ने पिछले साल मई महीने में पुलिस सेवा से त्याग पत्र दे दिया था। उस वक्त वह बेंगलुरू (दक्षिण) के पुलिस उपायुक्त थे।

नयी दिल्ली।  तमिलनाडु मूल के कर्नाटक कैडर के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के पूर्व अधिकारी के अन्नामलाई ने मंगलवार को यहां भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। भाजपा महासचिव व कर्नाटक व तमिलनाडू के प्रभारी पी मुरलीधर राव, तमिलनाडु भाजपा के अध्यक्ष एल मुरूगन और पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा की मौजूदगी में अन्नामलाई ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। कर्नाटक में नौ वर्षों तक विभिन्न पदों पर कार्य करने के बाद अन्नामलाई ने पिछले साल मई महीने में पुलिस सेवा से त्याग पत्र दे दिया था। उस वक्त वह बेंगलुरू (दक्षिण) के पुलिस उपायुक्त थे।

तमिलनाडु के करूर में जन्मे 2011 बैच के इस पूर्व आईपीएस अधिकारी के कर्नाटक के उडुपी जिले के कारकला के सहायक पुलिस अधीक्षक और उडुपी व चिकमंगलूर के पुलिस अधीक्षक के रूप में कार्यकाल को याद किया जाता है। राव ने पार्टी में उनका स्वागत करते हुए कहा कि वे कृषक परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनकी पृष्ठभूमि बहुत अच्छी रही है। उन्होंने इंजीनियरिंग करने के बाद प्रबंधन की पढ़ाई की और फिर आईपीएस के लिए चुने गए। 

इसे भी पढ़ें: उप मुख्यमंत्री ने कहा- राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला पहला राज्य बनेगा कर्नाटक

राव ने कहा कि देश के हर राज्यों की तरह तमिलनाडु में भाजपा मजबूत हो रही है। वहां भी समाज के विभिन्न वर्गों में और अलग-अलग क्षेत्र के लोगों में भाजपा के प्रति आकर्षण बढ़ा है। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में राष्ट्रवादी ताकतों को मजबूत करने, संवैधानिक मूल्यों की स्थापना करने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों को मजबूत करने के लिए अन्नामलाई भाजपा में शामिल हुए हैं। भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद अन्नामलाई ने भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।