• गुजरात में रिश्वतखोरी के मामले में चार तालुका पंचायत कर्मचारी गिरफ्तार

अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि एसीबी ने बुधवार को शेहरा तालुका की तालुका विकास अधिकारी (टीडीओ) जरीना अंसारी, लेखा सहायक हेमंत प्रजापति, सहायक अभियंता रियाज मंसूरी और वाटरशेड विकास दल के कीर्तिपाल सोलंकी को गिरफ्तार किया।

अहमदाबाद। गुजरात भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने पंचमहाल जिले की एक तालुका पंचायत के चार कर्मचारियों को कथित रूप से 4.45 लाख रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि एसीबी ने बुधवार को शेहरा तालुका की तालुका विकास अधिकारी (टीडीओ) जरीना अंसारी, लेखा सहायक हेमंत प्रजापति, सहायक अभियंता रियाज मंसूरी और वाटरशेड विकास दल के कीर्तिपाल सोलंकी को गिरफ्तार किया।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली कैपिटल्स कोच रिकी पोंटिंग बोले- इसी टीम के साथ फिर अगले IPL में फिर उतरेगी डीसी

उन्होंने बताया कि अंसारी द्वितीय श्रेणी की सरकारी अधिकारी हैं, जबकि अन्य शेहरा तालुका पंचायत के संविदा कर्मचारी हैं। एसीबी के अनुसार, शिकायतकर्ता सामग्री आपूर्तिकर्ता है और उसे महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी (मनरेगा) योजना के तहत एक सड़क, एक कुंआ और एक सुरक्षा दीवार के निर्माण के लिए कच्चे माल की आपूर्ति ठेका मिला था।

इसे भी पढ़ें: पहले पिता ने किया बलात्कार फिर होटल ले जाकर नेताओं से कराया गंदा काम, 28 लोगों पर मामला दर्ज

उन्होंने बताया कि आरोपियों ने 4.46 करोड़ रुपये के भुगतान का चेक देने के लिए उससे कथित तौर पर रिश्वत की मांग की थी। अधिकारी ने बताया कि इससे पहले भी शिकायतकर्ता उन्हें रिश्वत दे चुका था। उन्होंने बताया कि इसके बाद एसीबी ने बुधवार को जाल बिछा कर आरोपयों को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।