गडकरी ने नागपुर में किया योग, कहा- भारत की संस्कृति और इतिहास का प्रतीक है योग शास्त्र

gadkari-did-yoga-in-nagpur-said-yoga-is-a-symbol-of-india-s-culture-and-history
मीडिया से बात करते हुए गडकरी ने कहा, ‘‘ योग शास्त्र भारत की संस्कृति और इतिहास का प्रतीक है। इसे विश्वभर में मान्यता दिये जाने के साथ उत्साह के साथ इसका अभ्यास किया जाता है।

नागपुर। केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ के मौके पर कहा कि योग भारत की प्राचीन संस्कृति और इतिहास का प्रतीक है और इसे विश्वभर में उत्साह के साथ किया जाता है। ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ के मौके पर नागपुर के यशवंत स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में गडकरी ने लोगों के साथ कई आसन किए।

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी ने किया रांची में योगाभ्यास

मीडिया से बात करते हुए गडकरी ने कहा, ‘‘ योग शास्त्र भारत की संस्कृति और इतिहास का प्रतीक है। इसे विश्वभर में मान्यता दिये जाने के साथ उत्साह के साथ इसका अभ्यास किया जाता है। ’’उन्होंने कहा, ‘‘ इस तरह से योग समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचेगा और स्वस्थ जीवन जीने में मदद करेगा।’’

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़