पुराने वाहन तोड़ने की नीति पर जल्द मंत्रिमंडल की मंजूरी लेंगे: गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि उनका मंत्रालय वाणिज्यिक वाहनों को तोड़ने (स्क्रैपिंग) की नीत लाने का प्रयास कर रहा है और इसे सभी अंशधारकों के समक्ष रखा जाएगा।

नयी दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पुराने वाहनों को तोड़ने की प्रस्तावित नीति पर जल्द केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी ली जाएगी। गडकरी ने कहा कि उनका मंत्रालय वाणिज्यिक वाहनों को तोड़ने (स्क्रैपिंग) की नीत लाने का प्रयास कर रहा है और इसे सभी अंशधारकों के समक्ष रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर काम करें, तो इससे प्रदूषण का स्तर घटाने में मदद मिलेगी। उन्होंने यहां वीडियो संदेश में कहा, ‘‘हम गंभीरता से इसके क्रियान्वयन के मुद्दों की समीक्षा कर रहे हैं। हम जल्द कैबिनेट में जाएंगे। निश्चित रूप से हमें उनसे सकारात्मक समर्थन मिलेगा।’’ मंत्री का वीडियो संदेश यहां सियाम सम्मेलन में दिखाया गया। गडकरी ने कहा कि सरकार इस क्षेत्र को प्रोत्साहन देने के लिए कदम उठा रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘वाहन उद्योग एक श्रम आधारित उद्योग है। ऐसे में मंत्रालय इस उद्योग को प्रोत्साहन देने के तरीके ढूंढ रहा है। साथ ही हमारा इरादा निर्यात को प्रोत्साहन देने का है।’’ गडकरी ने कहा, ‘‘हम लॉजिस्टिक्स लागत को कम करने का प्रयास कर रहे हैं।’’ हाल में गंगा नदी पर मारति की कारों का वाराणसी से पश्चिम बंगाल को परिवहन किया गया। इससे परिवहन की लागत घटाने में मदद मिली। उन्होंने कहा कि सरकार धीरे-धीरे 111 नदियों को परिवहन मार्ग के रूप में विकसित कर रही है और साथ 7,500 किलोमीटर की तटरेखा का इस्तेमाल कर रही है जिससे लॉजिस्टिक्स लागत को कम करने में मदद मिले। उन्होंने कहा कि इसके अलावा प्रदूषण एक प्रमुख समस्या है और इससे निपटने के लिए सरकार ने यूरो छह मानकों को एक अप्रैल, 2020 से अनिवार्य करने का फैसला किया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़