गजेंद्र सिंह ने कहा, कांग्रेस के पास बात करने के लिए मुद्दा नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2018   18:39
गजेंद्र सिंह ने कहा, कांग्रेस के पास बात करने के लिए मुद्दा नहीं

भाजपा की प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक सिंह ने बीकानेर में टिकट को लेकर कांग्रेस के कुछ संभावित उम्मीदवारों के समर्थकों द्वारा की गयी कथित तोड़फोड पर भी सवाल उठाया है।

जयपुर। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस के पास बात करने के लिए मुद्दे नहीं है और वह विधानसभा चुनाव को विकास के एजेंडे से भटकाना चाहती है। यहां संवाददाताओं से उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश को विकास की पटरी पर नहीं रहने देना चाहती है। उन्होंने कहा,'कांग्रेस की भ्रष्ट व अस्पष्ट नीतियों की वजह से देश लगातार रसातल में गया।'।

भाजपा की प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक सिंह ने बीकानेर में टिकट को लेकर कांग्रेस के कुछ संभावित उम्मीदवारों के समर्थकों द्वारा की गयी कथित तोड़फोड पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की हत्या के कुत्सित प्रयास की इस घटना से कांग्रेस का चरित्र एक बार फिर राजस्थान की जनता के सामने उजागर हुआ है। 

उन्होंने कहा कि बीकानेर में कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने मंच पर अपने कार्यकर्ता को ‘भारत माता की जय’ के नारे को बीच में रुकवा कर सोनिया गांधी व अन्य पार्टी नेताओं के नारे लगवाए। उन्होंने आरोप लगाया,'सारा देश जानता है कि कांग्रेस में चाटुकारिता पहली प्राथमिकता है। कांग्रेस में पराक्रम की बजाय परिक्रमा की परंपरा है।' उन्होंने इसे निंदनीय व अस्वीकार्य बताया और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष से स्पष्टीकरण देने की मांग की। 

राज्य में यूरिया व डीएपी की उपलब्धता व कीमत के बारे में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट के आरोपों पर सिंह ने कहा कि पायलट झूठ बोलकर राजस्थान के लोगों को गुमराह कर रहे हैं ... झूठ बोलकर सनसनी पैदा करना कांग्रेस का स्वभाव बन गया है। लेकिन अब यह अधिक दिन तक नहीं चलेगा।' 

सिंह ने पायलट के किसान और खेती के ज्ञान पर सवाल उठाया और कहा , लगता है कि वह किसान और खेती के बारे में कुछ समझते नहीं है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा पैराशूट उम्मीदवारों को टिकट नहीं देने, महिलाओं की अधिक भागीदारी संबंधी दावों की वास्तविकता पर भी निशाना साधा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।