आदिवासी युवती के साथ हुआ गैंगरेप, लव जिहाद का मामला आया सामने

Khandwa love jihad and gang rape
सुयश भट्ट । Jan 19, 2022 6:03PM
नाबालिग की शिकायत परक पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गैंगरेप सहित एसटी/एससी एक्ट और धर्म स्वातंत्र्य की धाराओं में तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने कार्रवाही करते हुए आरोपी के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि मुख्य आरोपी अब भी फरार है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में फिर एक बार लव जिहाद का मामला सामने आया है। मामला खंडवा जिले का है। यहां आरोपी युवक ने पहले तो नाबालिग आदिवासी युवती से नाम बदलकर दोस्ती की। जिसके बाद दोस्त के साथ मिलकर नाबालिग का गैंगरेप कर धर्म बदलने का दबाव बनाया। युवती ने जब धर्म बदलने से मना कर दिया तो आरोपी उसे छोड़ दिया और फरार हो गया। जानकारी मिली है कि आरोपी ने कलेक्टर बंगले के पीछे शासकीय भवन में वारदात को अंजाम दिया। 

दरअसल नाबालिग की शिकायत परक पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गैंगरेप सहित एसटी/एससी एक्ट और धर्म स्वातंत्र्य की धाराओं में तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने कार्रवाही करते हुए आरोपी के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि मुख्य आरोपी अब भी फरार है। 

इसे भी पढ़ें:जहरीली शराब से 4 मौतों के बाद पुलिस ने की कार्यवाही,10 पेटी अवैध शराब की जब्त, तोड़ी शराब की भट्टी 

बताया जा रहा है कि खंडवा में 10 वीं की आदिवासी छात्रा से नाबालिग किशोर ने पहले दोस्ती की। फिर प्यार परवान चढ़ा और शादी की आस लिए जब छात्रा शादी का लाल जोड़ा और गहने लेकर हरसूद से भागकर खंडवा आई। यहां आरोपी ने अपने दोस्त सादिक के साथ शासकीय भवन में बंधक बनाकर गैंग रेप किया।

आरोपी ने छात्रा के आपत्तिजनक वीडियो और फोटो भी मोबाइल से खींच लिए। जिसके बाद धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया। जब उसने बात नहीं मानी तो वह उसे छोड़कर फरार हो गया। इस मामले में खंडवा नगर निगम का एक कर्मचारी सादिक भी लिप्त बताया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें:"यह घर बिकाऊ है", हम मुस्लिम समाज और प्रशासन से पीड़ित हैं, जानिए क्या है पूरा मामला 

आपको बता दें कि कोतवाली पुलिस टीम सूचना पर मौके पर पहुंची और उसे थाने लेकर आई। उन्होंने जब उससे रोने का कारण पूछा तो गैंग रेप का मामला सामने आया। पीड़िता हरसूद क्षेत्र की रहने वाली है। पीड़िता दसवीं की छात्रा है। उसने कोतवाली पुलिस को जानकारी दी कि मेरी तीन माह पहले सोशल मीडिया के जरिए आरोपी युवक से दोस्ती हुई थी। शादी का झांसा देकर उसने खंडवा बुलाया। मैं शादी का जोड़ा और ज्वेलरी लेकर घर से निकलीं। उसके बाद खंडवा पहुंची। यहां जब मैं आरोपी से मिली तो पता चला कि उसका असली नाम कुछ और है। उसने मुझे सादिक की मदद से कलेक्टर बंगले के पीछे शासकीय भवन में ठहराया था।

इस मामले पर हिंदू जागरण मंच के नेता अनीष अरझरे ने कहा कि आरोपी पीड़ित से जबरन धर्म परिवर्तन करने के लिए दवाब बनाया जा रहा था। उसके बाद उनके धर्म के रीति-रिवाज से वह शादी करेगा। यह बात सिर्फ पीड़िता को विश्वास में लेने के लिए करता रहा। उसके बाद आरोपी ने अपने दोस्त सादिक को भी वहां बुलाया। उन्होंने छात्रा के आपत्तिजनक फोटो और वीडियो को वायरल करने की धमकी दी। फिर दोनो दोस्त ने मिलकर दुष्कर्म किया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़