Gehlot ने जनहित कार्यों में अनावश्यक देरी करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए

Gehlot
प्रतिरूप फोटो
ANI
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकार पारदर्शी, जवाबदेह एवं संवेदनशील सुशासन के माध्यम से प्रत्येक वर्ग के उत्थान के लिए प्राथमिकता से कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकार पारदर्शी, जवाबदेह एवं संवेदनशील सुशासन के माध्यम से प्रत्येक वर्ग के उत्थान के लिए प्राथमिकता से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की सभी योजनाओं का समयबद्ध एवं प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए, ताकि आमजन को इनका पूरा लाभ मिल सके। इसी संदर्भ में उन्होंने अधिकारियों को आम लोगों से जुड़े कार्यों के निस्तारण में अनावश्यक देरी करने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

गहलोत मंगलवार को जयपुर स्थित हरिश्चंद्र माथुर लोक प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित राज्य सरकार के ‘चिंतन शिविर’ को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी शहरों में उत्कृष्ट सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं। गहलोत ने अधिकारियों से कहा कि देश में सफाई में आगे रहने वाले शहरों का अध्ययन कराएं और आवासीय योजनाओं के अधूरे कार्यों को शीघ्र पूरा कराएं। उन्होंने कहा कि राजस्थान की कला एवं संस्कृति की पूरी दुनिया में अनूठी पहचान है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही जयपुर में हवामहल महोत्सव का आयोजन हुआ, उसी तरह से प्रदेश के हर जिले में लोक गीत-संगीत के कार्यक्रम होने चाहिए, ताकि पर्यटकों के साथ-साथ युवा पीढ़ी को भी कला व संस्कृति की जानकारी मिल सके। शिविर में दूसरे दिन नगरीय विकास एवं आवासन, पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास, राजस्व, आपदा प्रबंधन एवं सहायता, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, अल्पसंख्यक मामले एवं वक्फ, कला, साहित्य, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के मंत्रियों द्वारा विभागीय कार्यों की प्रगति, बजट घोषणाओं और अभियानों के बारे में प्रस्तुतीकरण दिया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़