गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री पारसेकर ने BJP नहीं छोड़ने का निर्णय लिया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 15 2019 6:03PM
गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री पारसेकर ने BJP नहीं छोड़ने का निर्णय लिया
Image Source: Google

‘‘मैं लोकसभा चुनाव में काम करूंगा क्योंकि सभी नरेंद्र मोदी को फिर प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।’’ गोवा की दो लोकसभा सीटों के चुनाव और विधानसभा की तीन सीटों के लिए उपचुनाव 23 अप्रैल को होंगे।

पणजी। कुछ समय से नाराज चल रहे गोवा के वरिष्ठ भाजपा नेता लक्ष्मीकांत पारसेकर ने शुक्रवार को कहा कि वह पार्टी नहीं छोड़ेंगे और न ही निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मांडरेम विधानसभा उपचुनाव लड़ेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री पारसेकर 2017 के विधानसभा चुनाव में मांडरेम सीट पर दयानंद सोप्ते से हार गये थे। तब सोप्ते कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे। पारसेकर भाजपा में सोप्ते के शामिल होने से नाराज हैं। पूर्व मुख्यमंत्री पारसेकर (62) ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विनय तेंदुलकर पर सोप्ते को पार्टी में शामिल करने को लेकर उन्हें विश्वास में नहीं लेने का आरोप लगाया था। मांडरेम विधानसभा उपचुनाव 23 अप्रैल को होगा। करीब करीब यह पक्का है कि सोप्ते को भाजपा इस उपचुनाव में उम्मीदवार बनायेगी।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: भाजपा और अपना दल के बीच राजनीतिक खींचतान हुई खत्म, सीटों पर बनी सहमति

पारसेकर ने कहा, ‘‘मैंने भाजपा नहीं छोड़ने का निर्णय लिया है क्योंकि मैं पिछले 30 साल से पार्टी में हूं। मैं बस इसलिए पार्टी नहीं छोडूंगा कि कुछ नेता अन्य लोगों को विश्वास नहीं ले रहे हैं और पार्टी विरोधी निर्णय ले रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि मांडरेम में भाजपा कार्यकर्ता सोप्ते को पार्टी में शामिल किये जाने से नाराज हैं। लेकिन जब उनसे पूछा गया कि क्या वह उपचुनाव में सोप्ते का समर्थन करेंगे तो उन्होंने इसे टाल दिया और कहा, ‘‘उपचुनाव छोटी-मोटी बाते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं लोकसभा चुनाव में काम करूंगा क्योंकि सभी नरेंद्र मोदी को फिर प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।’’ गोवा की दो लोकसभा सीटों के चुनाव और विधानसभा की तीन सीटों के लिए उपचुनाव 23 अप्रैल को होंगे।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video