गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा, मौत के मुंह से लौटे हैं श्रीपद नाईक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 22, 2020   07:57
गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा, मौत के मुंह से लौटे हैं श्रीपद नाईक

नाईक के संक्रमित होने के बाद से आयुष मंत्रालय द्वारा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले उपायों के प्रभाव को लेकर सवाल उठ रहे हैं तथा आलोचना हो रही है। राणे ने उन आलोचनाओं को सिरे से खारिज कर दिया।

पणजी। गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने शुक्रवार को कहा कि केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाईक कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद ‘‘मौत के मुंह से लौटे हैं’’। राणे ने कहा कि नाईक एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं तथा प्लाजा थैरेपी के बाद उनकी हालत ठीक है। नाईक के संक्रमित होने के बाद से आयुष मंत्रालय द्वारा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले उपायों के प्रभाव को लेकर सवाल उठ रहे हैं तथा आलोचना हो रही है। राणे ने उन आलोचनाओं को सिरे से खारिज कर दिया।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आयुष मंत्रालय ने प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपायों की सिफारिश की है तो ऐसा उपयुक्त अनुसंधान के बाद विवेक का इस्तेमाल करते हुए किया होगा। इस पर टिप्पणी करना ठीक नहीं है।’’ राणे ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘नाईक मौत के मुंह से लौटे हैं, यह दुर्भाग्य था कि वह संक्रमित हो गए। वह कई लोगों से मिलते हैं। हमें उनकी सेहत में तेजी से सुधार के लिए प्रार्थना करनी चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...