गोरखपुर की बड़ी खबरें: शहर में मचा कोरोना से कोहराम, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से तड़प रहे मरीज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 21, 2021   20:49
गोरखपुर की बड़ी खबरें: शहर में मचा कोरोना से कोहराम, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से तड़प रहे मरीज

जनपद गोरखपुर के विभिन्न सरकारी/प्राइवेट कोविड अस्पतालों में कोरोना पॉजीटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के कारण मेडिकल आक्सीजन की मांग तेजी से बढ़ रही है। जनपद में आक्सीजन सिलेण्डर का भण्डारण एवं कालाबाजारी की भी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं।

1- गोरखपुर:- जनपद गोरखपुर के विभिन्न सरकारी/प्राइवेट कोविड अस्पतालों में कोरोना पॉजीटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के कारण मेडिकल आक्सीजन की मांग तेजी से बढ़ रही है। जनपद में आक्सीजन सिलेण्डर का भण्डारण एवं कालाबाजारी की भी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। कोरोना मरीजों हेतु आक्सीजन की आपूर्ति अनवरत बनाये रखा जाना व्यापक स्वास्थ्य हित में अत्यंत आवश्यक है। उक्त के दृष्टिगत जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन ने नगर मजिस्ट्रेट को निर्देशित किया है कि वे प्रतिदिन अस्पतालों/नर्सिंगहोम में आक्सीजन डिमान्ड एवं उसकी आपूर्ति की मुख्य चिकित्साधिकारी से समन्वय स्थापित कर समीक्षा करते हुए आक्सीजन की आपूर्ति की कार्यवाही सुनिश्चित करायेंगे। साथ ही नामित अधिकारी गणों से चिकित्सालय/नर्सिंगहोम के आक्सीजन स्टाक की जांच करायें, यदि आवश्यकता से अधिक सिलेण्डर का भण्डारण एवं कालाबाजारी पाया जाता है तो संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही हेतु रिपोर्ट भी दें। जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन ने सख्त आदेश देते हुए कहा है कि यदि किसी भी प्रकार की लापरवाही और कालाबाजारी से संबंधित घटनाएं सामने आएंगी उन व्यक्तियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी जिला अधिकारी ने बताया कि अपने निजी स्वार्थ के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी लोग कर रहे हैं जिसके मद्देनजर टीम गठित करके कालाबाजारी रुकवाने का कार्य प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया की ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी गोरखपुर जनपद में देखी जा रही है अतः उन्होंने जनता से अपील किया कि जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें अन्यथा ना निकले उन्होंने अपील करते हुए कहा कि मास्क का उपयोग लगातार करते रहें और अपने हाथों को धूलते रहें तथा सामाजिक दूरी का पालन भी करते रहें।

 

2-गोरखपुर -  मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर ने जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन, मुख्य चिकित्साधिकारी एवं अन्य अधिकारियों के साथ कोविड संक्रमण के इलाज के दौरान कहीं पर आक्सीजन की कमी न आने पाये इसके दृष्टिगत गीडा में स्थित गैस उत्पादन इण्डस्ट्री मोदी कैमिकल्स प्रा0लि0 एवं आर0के0 आक्सीजन का निरीक्षण कर वहां हो रहे आक्साीजन उत्पादन की स्थिति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की।  इसके उपरान्त उन्होंने गीडा में मोदी कैमिकल्स एवं आर0के0 आक्सीजन व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए निर्देश दिये कि कहीं भी आक्सीजन की कमी न आने पाये। इस समय सबको युद्ध स्तर पर कार्य कर प्रत्येक जीवन की रक्षा करनी है। कही भी समस्या आये तो तत्काल जिलाधिकारी एवं उन्हें अवगत कराया जाये। मण्डलायुक्त ने पशुपतिनाथ गुप्ता की बन्द पड़ी आक्सीजन इण्डस्ट्रीज को पुनः संचालित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि क्या-क्या आवश्यकता है निरीक्षण कर तत्काल अवगत करायें।मण्डलायुक्त ने यह भी निर्देश दिये कि कोई भी औद्योगिक इकाई में आक्सीजन सिलेण्डर प्रयोग न हो तथा कहीं भी आक्सीजन सिलेण्डरों का भण्डारण/कालाबाजारी न होने पाये, यदि ऐसा पाया जाता है तो संबंधित के विरूद्ध कठोरतम से कठोरतम कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होेंने उपायुक्त उद्योग को निर्देश दिया कि वे तत्काल सर्वे करके बताये कि औद्योगिक इकाइयों के पास कितने सिलेण्डर उपलब्ध है, जिससे आवश्यकता पड़ने पर उनका प्रयोग किया जा सके। उन्होंने आई.जी.एल. के प्रतिनिधियों से कहा कि गोरखपुर को नियमित रूप से आक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करायी जाये। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि आक्सीजन की मांग के अनुसार आपूर्ति में एजेंसियों को सहयोग करने एवं शांति व्यवस्था पर सतर्क दृष्टि रखने के लिए मोदी कैमिकल्स प्रा0लि0 नार्मल पर अपर नगर मजिस्ट्रेट अर्पित गुप्ता, मोदी कैमिकल्स प्रा0लि0 सेक्टर-13 गीडा में उप जिलाधिकारी (न्यायिक) खजनी मनोज तिवारी तथा आर0के0 आक्सीजन प्रा0लि0 सेक्टर-15 में उप जिलाधिकारी सहजनवा सुरेश राय की तैनाती की गयी है। इस अवसर पर सीईओ गीडा पवन अग्रवाल, अपर निदेशक स्वास्थ्य, सीएमओ सहित विभिन्न अधिकारी गण उपस्थित रहे। 

इसे भी पढ़ें: उज्जैन पुलिस प्रशिक्षण शाला में बन रहा कोविड सेंटर, स्वयंसेवी संगठनों की पहल  

3- गोरखपुर :- गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज ऑक्सीजन कांड के बाद से डॉ. कफील खान सस्पेंड चल रहे हैं। ऐसे में उन्होंने कोरोना काल की दुहाई देते हुए सीएम योगी से अपना निलंबन वापस लेने की मांग की है। डॉ. कफील ने सीएम योगी को एक चिट्ठी लिखकर कहा है कि उनका 15 वर्षों का आईसीयू का अनुभव इस समय यूपी में कोरोना को लेकर मची महामारी में मरीजों के काम आ सकता है। डॉ कफील ने कहा कोरोना वायरस की दूसरी लहर त्राही-त्राही मचा रही है।मेरा ICU में 15 वर्षो से अधिक का अनुभव शायद कुछ ज़िन्दगियाँ बचाने में काम आ सके। उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री से अपील किया कि विनम्र निवेदन है कि इस कोरोना महामारी में देश की सेवा करने का अवसर दें । 22-8-2017 से  निलंबित चल रहे डॉ. कफील ने लिखा कि इसी मामले में मैं निलंबित किया गया था| बीआरडी के पूर्व प्राचार्य प्रो. राजीव मिश्र और मेंटिनेंस इंचार्ज डॉ.सतीश कुमार का निलंबन पिछले साल चार मार्च को वापस हो चुका है। लेकिन सिर्फ उनकी बहाली नहीं की जा रही।  36 से भी अधिक पत्र लिखने के बावजूद अधिकारी द्वेषपूर्ण ढंग से उनका निलंबन वापस नहीं कर रहे हैं। जबकि विभिन्न जांच अधिकारियों की रिपोर्ट और इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश में उन्हें चिकित्सकीय लापरवाही और भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त कर दिया गया है। उच्च न्यायालय ने सात मार्च 2019 और उच्चतम न्यायालय ने 10 मई 2019 को अपने आदेश में 90 दिनों के भीतर उनके निलंबन पर विचार करने को कहा था लेकिन 1300 से अधिक दिनों से वह निलंबित हैं। वह किसी अन्य हॉस्पिटल या व्यवसाय में काम नहीं कर रहे हैं। डॉ कफील ने कोरोना महामारी के समय अपने देश के नागरिकों की सेवा  करने की इच्छा जताई और अपना निलंबन खत्म कर एक अवसर देने की गुहार मुख्यमंत्री से की उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा की चाहें तो महामारी की रोकथाम के बाद फिर से उन्हें निलंबित कर दें उन्हें यह सहज स्वीकार होगा।

इसे भी पढ़ें: वाराणसी में बीएचयू के ट्रामा सेंटर में शुरू हुआ कोविड वार्ड, आरक्षित किए गए 90 बेड  

4- गोरखपुर :- कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर गोरखपुर स्थित महेवा मंडी के खुलने का समय रोस्टर के अनुसार निर्धारित कर दिया गया है। इसी क्रम में सामानों के क्रय और विक्रय पर रोस्टर लागू किया जाएगा। सब्जियों का क्रय विक्रय महेवा मंडी में रात्रि 12:00 से सुबह 7:00 तक सुनिश्चित किया गया है। गल्ला व्यापारियों को आदेशित किया गया है कि उनके क्रय विक्रय का जो समय है सुबह 11:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक का है। महेवा मंडी में स्थित आलू तथा फल विक्रेताओं को निर्देशित किया गया है कि वह अपनी दुकानें सुबह 7:00 बजे से 1:00 बजे तक ही खोल पाएंगे। वहीं मछली मंडी व्यापारियों को बताया गया है कि सुबह 5:00 बजे से 11:00 बजे तक मछली व्यापारी अपनी दुकानें खोल पाएंगे। एक समय में ज्यादा भीड़ एकत्रित ना हो पाए इसी के मद्देनजर यह रोस्टर व्यवस्था प्रशासन द्वारा लागू किया गया है रोस्टर की मॉनिटरिंग और अन्य गतिविधियों पर ध्यान रखने के लिए मंडी समिति के सदस्यों की ड्यूटी भी प्रशासन द्वारा लगाई गई है। 

 

5- गोरखपुर :- गोरखपुर जिले में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। मंगलवार को आई कोरोना जांच रिपोर्ट में 1067 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है|जिसमें  सांस लेने में तकलीफ संबंधी मरीजों का आंकड़ा ज्यादा है तथा कुछ अपने शरीर में पाए गए लक्षणों के अनुसार कोरोना  संक्रमित पाए गए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30639 हो गई है। मंगलवार को 23384 लोग स्वस्थ हुये। कोरोना का संक्रमण बढ़ने के साथ ही टीकाकरण को लेकर लोगों में जागरूकता आई है। टीकाकरण को लेकर लोगों में उत्साह देखा जा रहा है। मंगलवार को जिला अस्पताल, महिला अस्पताल समेत ब्लाक स्तरीय सभी सीएचसी व पीएचसी  केंद्रों पर कोरोना का टीका लगाया गया। इस दौरान कुल लक्ष्य 12000 के सापेक्ष 2852 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। टीकाकरण का कुल फीसद 23.77 रहा। इस दौरान 45 वर्ष से ऊपर वैक्सीन का प्रथम डोज 956 व द्वितीय डोज 153 व 60 वर्ष से ऊपर प्रथम डोज 630 व द्वितीय डोज 1062 लोगों को लगाया गया।सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने बताया कि कोरोना का टीका सभी के लिए आवश्यक है। जो लोग निर्धारित उम्र सीमा के आधार पर मानक को पूरा कर रहे हैं वे टीका अवश्य लगवाएं स्वयं कोरोना का टीका लगवाएं व अन्य लोगों को भी टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने लोगों से अपील किया कि बहुत जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें अन्यथा ना निकलें अपने चेहरे पर फेस मास्क जरूर पहनें नियमित काढ़े  का सेवन करें अपने हाथों को निरंतर धोते रहें और सामाजिक दूरी बनाकर ही अपने कार्य करें।

 

6- गोरखपुर :-  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी कोरोना संक्रमण के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए गोरखपुर वासियों के समस्याओं को घर बैठे निस्तारण करने के लिए व्हाट्सएप ऑडियो वीडियो कॉल कर त्वरित निस्तारण करने की व्यवस्था की है आम जनमानस अपनी समस्याओं को घर बैठे ही व्हाट्सएप  या ऑडियो वीडियो से काल कर त्वरित निस्तारण का लाभ ले कोरोना काल में अपने-अपने घरों पर रह कर समस्याओं का निस्तारण पाएं दिए गए व्हाट्सएप नंबरों का लाभ उठाएं कोरोनावायरस से बचें । वर्तमान में कोरोना महामारी वायरस (कोविड.19) के बढ़ते  संक्रमण से सुरक्षा के दृष्टिगत जनपद में आम जनमानस की समस्याओं को सुनकर उसका त्वरित निस्तारण/यथावश्यक प्रभावी कार्यवाही हेतु प्रत्येक दिवस दूरभाष नं0-0551-2200858 तथा व्हाट्सअप नम्बर (7839865731) पर आडियो/विडियो काल के माध्यम से जन समस्याओं को सुनने एवं उस पर यथावश्यक प्रभावी कार्यवाही/त्वरित निस्तारण के लिए पुलिस अधीक्षक अपराध,गोरखपुर एवं पुलिस उपाधीक्षक,कार्यालय, गोरखपुर को नामित किया गया हैं। जो प्रत्येक दिवस पुलिस कार्यालय में प्रातः 10.00 बजे से 14.00 बजे तक उपस्थित रहकर जनपद के आम जनमानस की समस्याओं को उपरोक्त नम्बर पर सुनेंगे तथा त्वरित रूप से यथावश्यक कार्यवाही/निस्तारण करायेंगं। जनपद के जनसाधारण से अपील है कि वो कोरोना महामारी वायरस (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण से स्वयं एवं परिवार की सुरक्षा के दृष्टिगत अपनी समस्याओं को अपने निवास स्थान से अथवा जहा समस्या हो उसी स्थान से उपरोक्त नम्बरों पर बताने का कष्ट करें। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।